नयी दिल्ली. नोटबंदी पर संसदीय समितियों के सवालों का सामना कर रहे रिजर्व बैंक ने इस मामले में जिम्मेवारी सरकार के खाते में डाल दी है. वित्त मामलों की संसदीय समिति को भेजे गये अपने जवाब में रिजर्व बैंक ने कहा है कि नोटबंदी का फैसला सरकार की सोच थी और जब उसके पास यह प्रस्ताव आया तो उसके पास अधिक उपयुक्त समय नहीं बचा था. आरबीआइ ने कहा है कि यह फैसला सरकार की सलाह पर लिया गया है और उसे इसके बारे में सात नवंबर 2016 को सूचना दी गयी कि 500 व 1000 रुपये के पुराने नोटों को चलन से बंद करना है.

रिजर्व बैंक ने कहा है कि अारबीआइ बोर्ड की बैठक में इस प्रस्ताव को सहमति दे दी गयी. सात तारीख को आरबीआइ को प्रस्ताव भेजे जाने के अगले दिन ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर की रात आठ बजे 500 एवं 1000 रुपये के पुराने नोटों को प्रतिबंधित करने का एलान कर दिया और इसके पीछे उन्होंने कालाधन, भ्रष्टाचार, नकली नोट एवं आतंकवाद के प्रश्रय को रोकने को कारण बताया था.

मालूम हो कि इस फैसले पर सरकार व आरबीआइ पर सवाल उठाये जा रहे हैं. एक ओर जहां यह कहा जा रहा है कि सरकार ने इस फैसले के लिए संवैधानिक व संसदीय परंपराओं का पालन नहीं किया, वहीं आरबीआइ के लिए यह कहा जा रहा है कि उसने अपनी स्वायत्ता से समझौता कर लिया. हालांकि हाल में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि इस फैसले को लागू करने में सरकार ने सभी नियमों का पालन किया है. ध्यान रहे कि पूर्व में मोरारजी देसाई की सरकार ने पुराने नोटों को अध्यादेश के जरिये बंद किया था.

आइबीआइ ने वित्त मामलों की समिति को दिये जवाब में कहा है कि कुछ महीने पूर्व सरकार से उसका नये नोटों को लाने का करार हुआ था, ताकि कालाधन व आतंकवाद की फंडिंग पर लगाम लगायी जा सके. मई में सरकार ने उसे सलाह दी थी कि वह 2000 रुपये के नोटों को चलन में लाये.

पीएसी को भी देना है जवाब

नोटबंदी या विमुद्रीकरण पर संसद की सबसे ताकतवर समिति लोक लेखा समिति (पीएसी- पब्लिक एकाउंट कमेटी) ने रिजर्व बैंक और सरकार से इस संबंध में सवालों का जवाब पूछा है. पीएसी के अध्यक्ष केवी थॉमस ने कल ही कहा है कि समिति अगर विमुद्रीकरण के मुद्दे पर रिजर्व बैंक के जवाब से संतुष्ट नहीं होती है, तो इस मामले में वह प्रधानमंत्री को भी बुला सकती है. पीएसी ने आरबीआइ गर्वनर उर्जित पटेल से नोटबंदी पर दस सवाल पूछे हैं और 20 जनवरी को समिति की बैठक होनी है, जिसमें गवर्नर को पेश होना है.

नोटबंदी पर अारटीआइ के सवाल पर पीएमओ ने दिया था यह जवाब

नोटबंदी के मुद्दे पर आरटीआइ के जरिये प्रधानमंत्री कार्यालय यानी पीएमओ से सवाल पूछे गये थे, जिस पर जवाब दिया गया था. पीएमओ ने अपने जवाब में कहा था इस बारे में कोई सूचना नहीं है कि इस मुद्दे पर किन अधिकारियों से विचार-विमर्श किया गया था. पीएमओ ने इस सवाल का भी जवाब देने से इनकार किया कि क्या इस मामले में वित्त मंत्री एवं मुख्य आर्थिक सलाहकार की राय ली गयी थी.


Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।


आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए 2017 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. पेट्रोल पंप पर चलते रहेंगे डेबिट-क्रेडिट कार्ड, तेल कंपनियां उठाएंगी सरचार्ज का भार

2. खबरंदाजी: गाय को नींबू खिलाने की कवायद!

3. अमिताभ के दबाव में धोनी ने छोड़ी कप्तानी!

4. पीएम नरेंद्र मोदी की डिग्री की होगी जांच, सीआईसी के निर्देश

5. अब 899 रुपए में भरें एयर एशिया की उड़ान

6. सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड की वार्षिक परीक्षा 9 मार्च से

7. शिमला में 90 सेंटीमीटर रिकॉर्डतोड़ बर्फबारी, वैष्णो माता का पर्वत बर्फ से ढक गया

8. कांग्रेस ने पंजाब चुनाव का दिल्ली से जारी किया लोकलुभावन घोषणापत्र, केजरी ने साधा निशाना

9. EC से मुलाकात के बाद बोले मुलायम, अखिलेश मेरा बेटा है, हमारे बीच कोई विवाद नहीं

10. मप्र में POS मशीन पर नहीं लगेगा वैट और एंट्री टैक्स

11. गांधीनगर: पीएम मोदी बोले- नीचे रेल चलेगी और ऊपर मॉल होगा

12. भू-कैलाश में आरएसएस की प्रस्तावित सभा को पुलिस ने नहीं दी अनुमति

13. गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड समारोह में सुनहरे रंग के गाउन में नजर आईं प्रियंका

14. बिना सर्जरी डॉल जैसी दिखने की कीमत हर दिन दो घंटे की मेहनत

15. नरगिस ने शेयर किए बोल्ड फोटो

************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स