नई दिल्ली. अमेरिका की बड़ी कार कंपनी जनरल मोटर्स (जी.एम.) ने कहा है कि वह साल 2017 के अंत तक भारत में व्हीकल्ज बेचना बंद कर देगी. कंपनी ने कहा है कि वह केवल एक्सपोट्रस (निर्यात) पर फोकस करेगी.  इससे पहले अप्रैल में ही कंपनी ने गुजरात में अपने हलोल संयंत्र में प्रोडक्शन को रोक दिया था. उसने भारत में अपने मैन्युफैक्चरिंग ऑप्रेशंस के इंटीग्रेशन के प्रयासों के तहत इस पहले प्लांट में प्रोडक्शन बंद किया. जनरल मोटर्स इंडिया ने एक बयान में बताया कि भारत में वह अपना पूरा मैन्युफैक्चरिंग ऑप्रेशंस अब महाराष्ट्र के तालेगांव स्थित दूसरे प्लांट से करेगी. भारत में जनरल मोटर्स इंडिया शेवरले ब्रांड के तहत अपनी कारों को बेचती है.

जनरल मोटर्स इंडिया ने जारी बयान में कहा कि यह फैसला कंपनी की दुनिया भर में मौजूद परफॉर्मेंस का रिव्यू करने के बाद लिया गया है. कंपनी 4 इंटरनेशनल मार्केट्स से भी बाहर निकल रही है. इसमें रूस, यूरोप और साऊथ अफ्रीका शामिल हैं.  जी.एम. एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेजीडेंट और जी.एम. इंटरनेशनल के प्रेजीडेंट स्टीफन जैकब ने कहा, ‘‘भारत में कंपनी ने जो इन्वेस्टमेंट प्लान किया था उस हिसाब से रिटर्न नहीं मिल रहा है. इस इन्वेस्टमेंट से हमें अपनी लीडरशिप पोजीशन को हासिल करने और डोमेस्टिक मार्कीट में लॉन्ग टर्म में प्रॉफिट हासिल करने में मदद भी नहीं मिल रही है. 

जी.एम. ने कहा कि भारत, अफ्रीका और सिंगापुर में मौजूद ऑप्रेशंस का री-स्ट्रक्चर करने पर दूसरे क्वार्टर में 50 करोड़ डॉलर (करीब 3200 करोड़ रुपए) का खर्च होगा. वहीं कंपनी भारत में नई लो-कॉस्ट व्हीकल्ज मैन्युफैक्चरिंग लाइन पर किए जाने वाले 1 अरब डॉलर (लगभग 6400 करोड़ रुपए) के इन्वेस्टमेंट को भी रद्द करेगी. कंपनी ने कहा कि करीब 20 करोड़ डॉलर (करीब 1280 करोड़ रुपए) का नकद खर्च होगा. इस कदम से कंपनी 10 करोड़ डॉलर प्रति वर्ष (लगभग 640 करोड़ रुपए) बचाने की उम्मीद कर रही. बताते चलें कि बीते साल कंपनी को करीब 80 करोड़ डॉलर (5120 करोड़ रुपए) का नुक्सान हुआ था. जी.एम. ने साल 2015 में कहा कि वह साल 2020 तक भारत में अपने मार्कीट शेयर को डबल कर करीब 3 प्रतिशत या उससे ज्यादा करना चाहती है. कंपनी का मार्कीट शेयर 31 मार्च को समाप्त फाइनैंशियल ईयर में गिरकर 1 प्रतिशत से कम हो गया जो कि पहले 1.17 प्रतिशत था. 2016-17 में भारत में कंपनी की सेल्स करीब 21 प्रतिशत घटकर 25,823 यूनिट्स रही. वहीं  एक्सपोर्ट 16 प्रतिशत बढ़कर 83,368 यूनिट्स हो गया.

भारत में कंपनी की कारें- शेवरले बीट, शेवरले स्पार्क, शेवरले सेल, शेवरले एंज्वाय, शेवरले क्रूज, शेवरले ट्रेलब्लेजर

लगभग 100 साल से भारतीय वाहन बाजार में शेवरले के जरिए धमाल मचाने वाली अमरीकी वाहन कंपनी जनरल मोटर्स ने साल 1918 में शेवरले की बिक्री के जरिए पहली बार भारतीय बाजार में अपनी धमक दी थी. कंपनी ने 1928 में बॉम्बे में एक फैक्टरी खोली लेकिन 1958 में अन्य विदेशी वाहन निर्माता कंपनियों के साथ जी.एम. ने भी भारत से विदाई ले ली. कई वर्षों बाद कंपनी दोबारा 1995 में यहां आई लेकिन काफी जद्दोजहद के बाद भी भारत के तेजी से उभरते बाजार में 1 प्रतिशत से भी कम हिस्सा बना पाई और अब अंतत: इसने 22 साल बाद दोबारा भारतीय बाजार को अलविदा कह दिया है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. एक मजदूर जिसकी कहानी को 1,20,000 से ज्यादा लोग शेयर कर चुके हैं, आप भी पढ़िए

2. राजकुमारी ने गरीब लड़के से की शादी तो मिली ऐसी सजा!

3. रणवीर की बेहद बोल्ड तस्वीरें आईं सामने एक मिस्ट्री गर्ल के साथ

4. VIDEO: जब इन 6 लड़कियों ने किया बद्रीनाथ के टाइटल ट्रैक पर हॉट डांस

5. 19 मई को एप्पल अपने iPhone 7 और iPhone 7 Plus को नए डिजाइन में करेगी पेश

6. BSNL अपने यूजर्स को देगी रोजाना 1GB डाटा, जानें क्या होगा प्लान

7. महाभारत के युद्ध में इन छलों से मारे गए ये योद्धा

8. लड़की पटाने के लिए लड़के कभी कभी ऐसा भी करते हैं, देखें वीडियो

9. दुनिया की पहली पॉर्न यूनिवर्सिटी, लेना चाहेंगे एडमिशन!

10. इस देश की लड़की से करो शादी और पाओ नौकरी के झंझट से निजात

11. खून से बना फेस क्रीम लगाती हैं हैली बाल्डविन

12. VIDEO: दूल्हे ने दुल्हन को जड़ दिया थप्पड़, वीडियो वायरल

13. ज्योतिष के अनुसार शुक्र और गुरु ग्रह ही आदमी को सबसे ज्यादा धनवान बनाते

14. इन सभी परिस्थितियों के समय लड़कियों को हो जाती है अपनी ज़िंदगी से नफरत

15. सिरफिरे प्रेमी ने प्रेमिका को घोपी तलवार, फिर टॉवर से कूदकर दे दी जान

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।