दुनिया में घूमने-फिरने के लिए बहुत सी खूबसूरत झीलें, पहाड़ और समुद्र है. अलग-अलग खासियत के लिए मशहूर इन जगहों को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते है. आज हम आपको ऐसी ही एक खूबसूरत और अजीबो-गरीब झील के बारे में बताने जा रहें है. ऑस्ट्रेलिया में मौजूद इस झील का रंग होने के कारण इसे देखने के लिए टूरिस्ट दूर-दूर से आते है.

गुलाबी रंग की इस छोटी-सी झील को लोग देखने के लिए उतावले रहते है. दरअसल इस झील में नमक, बैक्टीरिया और एल्गी होने के कारण इस पर सूरज की किरणें पड़ने पर इसके पानी का रंग गुलाबी हो जाता है.हिलर या सलाइन लेक के नाम से जानी जाने वाली इस झील को दुनिया की सबसे छोटी झील माना जाता है. ज्यादा नमक, बैक्टीरिया और एल्गी होने के बावजूद भी इसका पानी बिल्कुल सुरक्षित है. इस झील में डुबकी लगाने औक तैराकी करने के लिए टूरिस्टों की भाड़ लगी रहती है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. नोटबंदी और जीएसटी देश के लिए 2 बड़े झटके, अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया : राहुल

2. श्रेयन और अंजलि बने ज़ी टीवी 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स 2017' के विजेता

3. अनुच्छेद-35A पर सुनवाई 8 हफ्ते के लिए टली, सरकार ने कहा-नियुक्त किया वार्ताकार

4. जेएनयू व डीयू के कई प्रोफेसर यौन शोषण के आरोपी, फेसबुक पर जारी की सूची

5. सरकार ने करदाताओं को बड़ी राहत, GST रिटर्न दाखिल करने की अवधि बढ़ी

6. महिला हॉकी : एशिया कप में भारत ने चीन को दी मात

7. प्रदीप द्विवेदी: मुकद्दर का सिकंदर बन रहे हैं कांग्रेस नेता राहुल गांधी!

8. राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियनशिप : मनोज कुमार और शिव थापा फाइनल में पहुंचे

9. चीन का नया प्लानः ब्रह्मपुत्र के पानी को मोड़ने के लिए बनाएगा हजारों किमी की सुरंग

10. राजस्थान : समाप्त हुआ भूमि समाधि लेने वाले किसानों का आंदोलन

11. अशोक वृक्ष को घर के उत्तर में लगाकर रोज करें जल अर्पित, पड़ेगा चमत्कारिक प्रभाव

12. महादशा से भविष्य में कब क्या होगा , इसका अनुमान भी आप भी लगा पाएंगे

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।