खबरंदाजी. आप... आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास एक बार फिर चर्चाओं में हैं... कवियों के साथ एक बड़ी समस्या है... उनकी कविता का अर्थ कुछ और होता है और लोग भावार्थ कुछ और निकाल लेते हैं!

कुमार विश्वास के साथ दिक्कत यह है कि कवि सम्मेलन में वे आप के पक्ष में खड़े होते हैं और आप के मंच पर वे विपक्षी काव्यपाठ शुरू कर देते हैं, नतीजा... दोनों जगह अविश्वास का घेरा बढ़ता जा रहा है!

खैर, अभी-अभी आरक्षण विवाद के बाद कुमार विश्वास ने सफाई दी है कि... आरक्षण के आंदोलन के लिए उनके निशाने पर बाबा साहेब आंबेडकर नहीं बल्कि पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह थे!

खबरें हैं कि... राजस्थान में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं की एक सभा में उन्होंने कहा था कि एक आदमी आरक्षण के आंदोलन के नाम पर हमारे देश में जातिवाद की नींव डाल गया था!

जाहिर है, इस बयान के वायरल होने के बाद जोरदार प्रतिक्रिया होनी ही थी, कहा गया कि... उन्होंने आंबेडकर पर निशाना साधा है!

उधर, कुमार विश्वास का बयान आया...

संविधान निर्माता पूज्य डॉ. बाबा साहब अम्बेडकर जी के नाम का सहारा ले कर राजनैतिक षड्यंत्रकारियों द्वारा किया गया दुष्प्रचार बेनकाब. जय भारत, जय भीम!

याद रहे, कुमार विश्वास आप के संस्थापक सदस्य हैं और राष्ट्रीय स्तर पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के बराबर लोकप्रिय हैं, इसलिए उन्हें अन्य बागी आप नेताओं की तरह बाहर का रास्ता दिखाना आसान नहीं है, कोशिश यह है कि... या तो उन्हें पार्टी के भीतर निष्क्रिय कर दिया जाए या फिर उन्हें कोई बड़ी गलती करने का अवसर दिया जाए!

आप के भीतर आप के सदस्यों पर कुमार विश्वास की पकड़ कमजोर है लेकिन आप के समर्थकों में खासे लोकप्रिय है... कुमार जानते हैं कि यदि आप से बाहर हो गए तो एक नया और लंबा संघर्ष शुरू हो जाएगा इसलिए उनकी कोशिश है कि पुराने आप सदस्यों की घर वापसी की जाए, लेकिन... यह इतना आसान नहीं है क्योंकि जिनके हाथों में संगठन है वे इसके लिए राजी नहीं होंगे और जो बाहर हैं वे ससम्मान वापसी चाहेंगे!

खबर तो यह भी है कि... स्वराज इंडिया के प्रमुख योगेंद्र यादव ने आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास के उस बयान को खारिज कर दिया है, जिसमें विश्वास ने कहा था कि योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण की आम आदमी पार्टी में वापसी को लेकर बातचीत हो रही है... योगेंद्र यादव ने कहा कि ऐसे किसी भी कदम के बारे में उन्हें जानकारी नहीं है!

अरविंदभाई तो इस्तीफे की एक गलती के बाद राजनीति के रंग पहचान गए, अब... कुमार विश्वास को कौन समझाए कि राजनीति में सैद्धान्तिक विचारों को प्रायोगिक रूप देना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है!

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. नोटबंदी और जीएसटी देश के लिए 2 बड़े झटके, अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया : राहुल

2. श्रेयन और अंजलि बने ज़ी टीवी 'सारेगामापा लिटिल चैंप्स 2017' के विजेता

3. अनुच्छेद-35A पर सुनवाई 8 हफ्ते के लिए टली, सरकार ने कहा-नियुक्त किया वार्ताकार

4. जेएनयू व डीयू के कई प्रोफेसर यौन शोषण के आरोपी, फेसबुक पर जारी की सूची

5. सरकार ने करदाताओं को बड़ी राहत, GST रिटर्न दाखिल करने की अवधि बढ़ी

6. महिला हॉकी : एशिया कप में भारत ने चीन को दी मात

7. प्रदीप द्विवेदी: मुकद्दर का सिकंदर बन रहे हैं कांग्रेस नेता राहुल गांधी!

8. राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियनशिप : मनोज कुमार और शिव थापा फाइनल में पहुंचे

9. चीन का नया प्लानः ब्रह्मपुत्र के पानी को मोड़ने के लिए बनाएगा हजारों किमी की सुरंग

10. राजस्थान : समाप्त हुआ भूमि समाधि लेने वाले किसानों का आंदोलन

11. अशोक वृक्ष को घर के उत्तर में लगाकर रोज करें जल अर्पित, पड़ेगा चमत्कारिक प्रभाव

12. महादशा से भविष्य में कब क्या होगा , इसका अनुमान भी आप भी लगा पाएंगे

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।