फ्लर्ट के दौरान किया जाने वाला टच उत्साहित करने वाला और अतरंग तो होता है, साथ ही साथ उससे किसी को नुकसान नहीं पहुंचता.

फ्लर्ट के लिए जरूरी नहीं बोलना

फ्लर्ट करना आसान नहीं है. खासतौर पर तब जब आपको आपके स्पेशल वन के साथ अकेलापन न मिल पाए. लेकिन ऐसे में भी आप अपनी भावनाएं उस इंसान तक पहुंचा सकते हैं, एक सिंपल टच से. फ्लर्ट के दौरान किया जाने वाला टच उत्साहित करने वाला और अतरंग तो होता है, साथ ही साथ उससे किसी को नुकसान नहीं पहुंचता. आइये जानते हैं बिना एक शब्द बोले भी टच से कैसे फ्लर्ट कर सकते हैं.

फ्लर्ट टच का सीक्रेट

जब कोई बहुत आकर्षक इंसान आपको हल्का सा छूता हुआ निकल जाता है, तो पेट में गुदगुदी जैसी महसूस होती है. धड़कनें बढ़ जाती हैं और एक्साइटमेंट फील होता है. ऐसा लगभग सभी के साथ होता है. अचानक से हुआ कोई टच रिश्ते में गर्माहट ला सकता है और किसी को भी अहसास करा सकता है कि आप 'जस्ट फ्रेंड' से ज्यादा कुछ हैं!

टच होता है खास

यहां हम अपोजिट सेक्स के टच के बारे में बात कर रहे हैं. ऐसा टच बहुत खास होता है और हमेशा सूदिंग लगता है. इस टच से थोड़ी शर्म और हिटकिचाहट भी जुड़ी हुई है. लेकिन जो भी हो, हर कोई इसकी ख्वाहिश रखता है, भले ही उसे कुबूले न!

टच के साथ कैसे करें फ्लर्ट

बातचीत के दौरान जब एक लड़की लड़के को टच करती है तो लड़का अपने आपको संभाल नहीं पाता. वो फौरन उस लड़की से सेक्शुली कनेक्ट करने लगता है. इसी तरह जब कोई लड़का लड़की को भीड़ भरी जगह से सुरक्षित बाहर निकालने के लिए उसकी कमर पर हाथ रखता है तो लड़की की धड़कनें बढ़ जाती हैं. खास बात ये कि ये सब नेचुरली होता है.

दोस्त का टच भी है खास

आप अपने दोस्त से एक लंबी बातचीत कर रहे हैं. आपका/आपकी दोस्त अपनी परेशानियां अपनी उलझनें आपको बता रहा/रही है और आपको कहीं और जाने की जल्दी है. आप जाना चाह रहे हैं तभी आपका/आपकी दोस्त आपका हाथ अचानक से पकड़कर कहे, "मत जाओ अभी..." तो आपके लिए जाना मुश्किल हो जाएगा.

फ्लर्ट से क्यों बढ़ती हैं धड़कनें

तो, ऐसा होता क्यों है? हम कैसे किसी के लिए अचानक ऐक्साइटेड हो जा ते हैं, हमारे खून का दौरा और धड़कनों की रफ्तार, दोनों बढ़ जाती हैं, सिर्फ एक टच से? दरअसल, ये सब हमारे दिमाग में होता है. हमारा दिमाग इस तरह से बना हुआ है कि एक इंसानी छुअन हमारे अंदर सकारात्मक ऊर्जा ले आती है.

टच का असर

टच का असर खुशबू, आवाज़ या किसी को नजर भर देखने से ज्यादा, बहुत ज्यादा होता है. जब कोई किसी को टच करता है तो वो न सिर्फ शारीरिक रूप से बल्कि आत्मिक रूप से भी जुड़ा हुआ महसूस करने लगते हैं. शायद इसीलिए कोई मुश्किल वक्त आने पर आपका नजदीकी आपका हाथ थाम लेता है तो आपको भावनात्मक सुरक्षा का अहसास होने लगता है.

टच करके फ्लर्ट करने की कला

टच करके फ्लर्ट करना आसान नहीं है. ये एक कला है. अगर आपने इस कला की नजाकत को समझे बिना टच किया तो हो सकता है कि इसका अंजाम अच्छा न हो. टच करके फ्लर्ट करने के लिए आपको मौका और वक्त देखना चाहिए. आपका टच शालीन होना चाहिए. साथ ही, आपको इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि आपका टच सामने वाले के अंदर नफरत का भाव पैदा न कर दे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. आधार होगा और सुरक्षित, अब देनी होगी 'वर्चुअल आईडी'

2. भारतीय सेना ने 28 सैनिकों की शहादत पर 138 पाकिस्तानी सैनिक मारे

3. पहले IIT और अब CAT में 100 प्रतिशत नंबर ला कर हासिल किया पहला रैंक

4. यूपी के इस होटल में वेटर से लेकर मैनेजर तक सब होंगी महिलाएं

5. भगवान के दर्जे पर संकट में पेशा!

6. राजधानी एक्सप्रेस में बुजुर्ग को चूहे ने काटा, साढ़े तीन घंटे निकलता रहा खून

7. नहीं बंद होंगी मुफ्त बैंकिंग सेवाएं, सरकार ने खबरों का किया खंडन

8. CES 2018 : पहले दिन लॉन्च किए गए ये शानदार प्रोडक्ट्स

9. विक्रम भट्ट की हॉरर फिल्म के दौरान कैमरे में कैद हुआ भूत, तस्वीरें देखकर उड़ जाएंगे होश

10. हाइक ने लांच की Hike ID, बिना नंबर के भी कर सकेंगे चैट

11. राशि के अनुसार शादी की ड्रेसों का करें चयन, ग्रहों और रंगों का खुशियों से सीधा संबंध

12. पापों से मिलेगी मुक्ति,अगर करते हैं षट्तिला एकादशी का व्रत

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।