बॉन. दिखने में सामान्य सा लगने वाला यह ढांचा कितना कारगर है यह आप सोच भी नहीं पाएंगे. जर्मन शहर यूलिष में 149 रिफ्लेक्टर लैंपों का यह ढांचा ही कृत्रिम सूर्य है. इससे 3,000 डिग्री सेल्सियस की गर्मी पैदा की जा सकती है. यह जानकर आपको हैरानी होगी कि इससे सूरज की रोशनी के मुकाबले 10 गुना ज्यादा विकिरण निकलता है.

धातु को सेकेंडों में पिघला देती है गर्मी

149 शक्तिशाली लैंपों की प्रोजेक्टर रोशनी को एक ही जगह पर केंद्रित किया जाता है. सारी रोशनी एक गोल्फ की गेंद के बराबर छोटे आकार पर फोकस की जाती है और तब जाकर 3,000 डिग्री सेल्सियस की गर्मी पैदा होती है. इतनी गर्मी किसी भी धातु को सेकेंडों में पिघला देती है.

घटाई-बढ़ाई जा सकती है रोशनी

आम तौर पर पृथ्वी पर पड़ने वाली सूर्य की रोशनी हर वक्त बदलती रहती है. वायुमंडल में मौजूद नमी, धूल और अन्य तत्व हर वक्त विकिरण में परिवर्तन करते रहते हैं. विशाल लैब के भीतर मौजूद कृत्रिम सूर्य के साथ ऐसा नहीं होता. लैब के भीतर एक जैसा माहौल रहने से विकिरण संबंधी शोध किए जाते हैं. यह देखा जाता है कि अलग अलग रसायनों और प्राकृतिक तत्वों पर विकिरण का कैसा असर पड़ता है. प्रयोग के दौरान रोशनी घटाई या बढ़ाई जा सकती है. अब भी वैज्ञानिकों के सामने एक बड़ी समस्या यह आ रही है कि 3,000 डिग्री के तापमान को बर्दाश्त करने के लिए कौन सा मैटीरियल इस्तेमाल किया जाए? पृथ्वी पर मौजूद ज्यादातर पदार्थ अधिकतम 1,800 या 2,000 डिग्री सेल्सियस तक का ही तापमान बर्दाश्त कर सकते हैं.

किए जाते हैं ताप संबंधी प्रयोग

आखेन के पास यूलिष शहर में डीएलआर ने एक मिरर पार्क भी बनाया है. असल में यह सोलर थर्मल पावर प्लांट हैं. 2,100 विशाल दर्पण सूर्य की रोशनी को परावर्तित कर एक टावर पर फोकस करते हैं. इससे करीब 1600 से 2000 डिग्री तक तापमान पैदा होता है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. कनार्टक चुनाव हिन्दुत्व से लोगों को बचाने का आखिरी मौका: शशि थरूर

2. जब पेड़ ने बचाई 22 श्रद्धालुओं की जान

3. बॉम्बे HC के जज ने सुबह 3.30 बजे तक लगाई अदालत

4. भारतीय टीम को हराना माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने जैसा: आस्ट्रेलियाई कोच लैंगर

5. खाने में मिला था जिंदा कीड़ा, रेलवे को लगा 10,000 रुपये का जुर्माना

6. राजस्थान के राजघाट गांव में 22 साल बाद बजी शहनाई

7. पाक की आर्थिक हालत का सच सबकुछ बेचकर भी नहीं खरीद सकता भारत की एक कंपनी

8. फिर पनपा कैश संकट पूर्वोत्तर राज्यों में खाली हुए एटीएम

9. अमेरिका में भारतीय मूल की महिला बनी जज, कर दिया देश का नाम रोशन

10. मंगल आये अपनी उच्च राशि में, 26 जून से 27 जुलाई तक वक्री रहेंगे

11. प्राचीन धार्मिक ग्रंथों के अनुसार 12 ज्योर्तिलिंगों में पहला है सोमनाथ मंदिर

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।