छोटी इलैक्ट्रिक कारों के लिए एक नए टाइप की बैटरी बनाई गई है जो पावरफुल होने के साथ-साथ काफी हल्की भी है. इसे खास तौर पर 50 से अधिकतम 100 किलोमीटर तक की यात्रा करने के लिए तैयार किया गया है. फ्रांस के एक शहर मार्सिले में स्थित फ्रैंच स्टार्टअप कम्पनी नावा टैक्नोलॉजीस द्वारा इसे बनाया गया है. इस दौरान बैटरी को कार्बन अल्ट्रा कैपेसिटर के साथ जोड़ा गया है जिनकी मदद से इसकी रेंज और पावर में इजाफा हुआ है. 

नई तकनीक व अल्ट्रा कैपेसिटर से बनी इस बैटरी को मौजूदा तकनीक से 1,000 गुणा तेजी से चार्ज किया जा सकेगा. कम्पनी ने बताया है कि जितना समय आपको ईंधन से चलने वाली कार के टैंक को भरने में लगता है उससे तीन गुणा कम समय में यानी कुछ सैकेंड्स में ही कार की बैटरी को फुल किया जा सकेगा. 

नई तकनीक पर आधरित इस बैटरी में किसी भी तरह का कैमिकल रिएक्शन नहीं होगा जिससे यह कभी गर्म नहीं होगी व फूलेगी भी नहीं. इसे 10 लाख बार चार्ज और डिस्चार्ज किया जा सकेगा जिससे लम्बे समय तक इसका उपयोग करने में किसी भी तरह की परेशानी नहीं होगी.

अल्ट्रा कैपेसिटर से बनाई गई इस बैटरी का आसानी से निर्माण किया जा सकेगा व यह काफी सस्ती भी पड़ेगी. नावा कम्पनी के फाऊंडर और COO (चीफ ऑप्रेटिंग ऑफिसर) पास्कल बूलैंजर ने कहा है कि कार्बन अल्ट्रा कैपेसिटर से पर्यावरण को काफी लाभ पहुंचेगा. मेरे लिए इस तरह की बैटरी को बनाने का इरादा तब बना जब मुझे पता चला कि शहरों में बड़ी मात्रा में ईंधन से चलने वाली कारें चलाई जा रही हैं जोकि सही नहीं है. इससे हम अपने ग्रह को नष्ट कर रहे हैं. 

अल्ट्रा कैपेसिटर्स को कार्बन और एल्यूमीनियम से बनाया गया है. कार्बन को प्राकृतिक और टिकाऊ स्रोतों में से एक माना जाता है. इसी बात पर ध्यान देते हुए हमने सेफ और क्लीन बैटरीज़ को बनाने वाले असली व टिकाऊ तरीके को खोज निकाला है. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. माना की पीएम मोदी बहादुर हैं, पर प्रेस से क्यों दूर हैं?

2. कैशलेस पर भरोसा नहीं? लोगों के हाथ में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा कैश

3. अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार ने मांगे 22 हजार अतिरिक्त जवान

4. कीनिया को रौंदकर भारत ने हीरो इंटर कांटिनेंटल फुटबॉल कप जीता

5. SCO समिट- भारत समेत कई देशों के बीच महत्वपूर्ण एग्रीमेंट, PM मोदी ने दिया सुरक्षा मंत्र

6. ट्रंप से मुलाकात के लिए उत्तर कोरिया से चाइना होते हुए सिंगापुर पहुंचे किम जोंग

7. उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने यूजीसी बड़े बदलाव की तैयारी में

8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल

9. रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी, भोपाल से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे.?

10. क्या आप भी पूजा-पाठ करने के लिए स्टील के लोटे का करते हैं इस्तेमाल?पहले जान लें ये बात

11. काम में मन नहीं लगता तो यह करें उपाय

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।