डायरेक्टर ट्रैविस नाइट ने फिल्म में इमोशंस को ज्यादा अहमियत दी है. यही फिल्म की खासियत है, पर कुछ हद तक कमजोरी भी, क्योंकि ट्रांसफॉर्मर्स सीरीज में लगातार धांसू ऐक्शन देखने की उम्मीद लगाए बैठे फैंस को थोड़ी निराशा हो सकती है. चार्ली के रूप में हैली स्टेनफेल्ड ने जानदार ऐक्टिंग की है, तो बाकी कलाकारों का अभिनय भी अच्छा है. डायरेक्टर ट्रैविस नाइट की बेहद कामयाब साई-फाई फ्रैंचाइजी ट्रांसफॉर्मर्स यूं तो अपने हैरतअंगेज ऐक्शन के लिए मशहूर है, लेकिन बम्बलबी में दर्शकों को इमोशंस का भी फुल डोज मिलता है.

कहानी- साइबरट्रॉन में छिड़े सिविल वॉर से, जिसमें ऑटोबोट्स अपने विरोधियों डिसेप्टिकॉन्स से हारने के कगार पर हैं. ऐसे में, ऑटोबोट्स का नेतृत्व कर रहा ऑप्टिमस प्राइम बी-127 को धरती पर जाने को कहता है, ताकि वह वहां जाकर ऑटोबोट्स का अस्तित्व बचाए रख पाए. बी-127 सन 1987 में धरती पर पहुंचता है, जहां वह कैलिफोर्निया में एक्स्ट्राटैरेस्ट्रियल ऐक्टिविटी की निगरानी कर रहे कर्नल जैक बर्न्स (जॉन सीना) से टकरा जाता है. नतीजतन, बर्न्स अपनी आर्मी के साथ बी-127 के पीछे पड़ जाता है. वहीं, डिसेप्टिकॉन ब्लिट्जविंग भी वहां पहुंच जाता है. घमासान युद्ध में बी-127 ब्लिट्जविंग को मार देता है, लेकिन खुद भी बुरी तरह घायल हो जाता है. हालांकि, निष्क्रिय होने से पहले वह खुद को एक बीटल कार में तब्दील कर लेता है. 

इधर, अपने पिता की मौत और मां की दूसरी शादी से दुखी और खुद को अकेली महसूस करने वाली चार्ली वॉटसन (हैली स्टेनफेल्ड) इस कार को अपने अंकल हैंक के कबाड़खाने में देखती है, तो 18वें जन्मदिन के तोहफे के रूप में मांग लेती है. कार की मरम्मत करते हुए बी-127 ऐक्टिव हो जाता है और यहां से शुरू होती है चार्ली और बम्बलबी की दोस्ती और अपनेपन की कहानी.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।