लखनऊ.  समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव को सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए प्रयागराज जाने से रोके जाने पर सपा समर्थकों ने सदन से सड़क तक हंगामा किया. यादव को मंगलवार को अमौसी एयरपोर्ट पर सुरक्षाकर्मियों ने उस समय रोक लिया जब वह इलाहाबाद विश्वविद्यालय में सपा समर्थित छात्रसंघ के एक कार्यक्रम में भाग लेने प्रयागराज जा रहे थे. इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री एवं उनके समर्थकों की सुरक्षाकर्मियों के साथ नोक-झोंक और धक्का-मुक्की हई.

सपा अध्यक्ष को एयरपोर्ट पर रोके जाने की सूचना मिलते ही विधानसभा और विधानपरिषद में सपा सदस्यों ने जोरदार हंगामा किया जिससे सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. वहीं हवाई अड्डे के बाहर और सपा मुख्यालय पर पार्टी समर्थकों ने सरकार विरोधी नारेबाजी की और इसे लोकतंत्र की हत्या करार दिया.

यादव ने ट्वीट कर कहा, बिना किसी लिखित आदेश के मुझे एयरपोर्ट पर रोका गया. पूछने पर भी स्थिति साफ करने में अधिकारी विफल रहे. छात्र संघ कार्यक्रम में जाने से रोकने का एक मात्र मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है. एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाई-अड्डे पर रोका जा रहा है. उधर, जिला प्रशासन की दलील है कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम कुलपति की अनुमति के बिना हो रहा था. उन्होने कहा कि इस संबंध में विवि प्रशासन ने यादव के निजी सचिव को पत्र लिखकर कहा था कि बगैर अनुमति के आयोजित इस कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री का आगमन तर्कसंगत नहीं होगा.

गृह विभाग के सूत्रों ने बताया कि प्रयागराज जिला प्रशासन ने यादव के आगमन को लेकर कानून व्यवस्था बिगडऩे की आशंका जतायी थी और उन्हें यहां आने से रोकने की अपील की थी. उन्होंने कहा कि सपा अध्यक्ष के निजी सचिव गंगाराम को इलाहाबाद विवि के कुलपति आर एस दुबे ने आठ फरवरी को पत्र लिखकर बता दिया था कि राजनैतिक दलों से संबद्ध व्यक्तियों को छात्रसंघ द्वारा प्रस्तावित कार्यक्रम में शामिल नहीं किया जायेगा. ऐसे में श्री यादव के कार्यक्रम में शामिल होने से कानून और व्यवस्था प्रभावित होने की संभावना है. 

उधर, पार्टी सूत्रों का कहना है कि अखाड़ा परिषद ने यादव को 2013 में सम्पन्न कुंभ के सफल आयोजन पर सम्मानित करने के लिये आमंत्रित किया था. श्री यादव की लोकप्रियता से घबराकर भाजपा सरकार ने उन्हे रोके जाने का कुचक्र रचा. पार्टी महासचिव रामगोपाल वर्मा ने कहा कि लोकप्रियता के शिखर पर पहुंचे अखिलेश को रोका जाना लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ साथ मानवाधिकार का खुल्लम खुल्ला उल्लंघन है जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. सपा सरकार के इस कृत्य के खिलाफ सदन से सड़क तक आवाज बुलंद करेगी. विधानसभा में सपा अध्यक्ष को रोके जाने की विपक्षी सदस्यों ने एक सुर में निंदा की और इस अघोषित आपातकाल करार दिया.

विधानसभा के प्रश्नकाल में विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने तीसरे सवाल को उठाया था कि सपा सदस्य वेल में आ गये और उन्होंने  यादव को एयरपोर्ट में रोके जाने की सूचना सदन को दी. दीक्षित ने सदस्यों को शांत रहने की बार-बार अपील की लेकिन सपा सदस्यों ने जोरदार हंगामा कर सदन को स्थगित करने का दवाब बनाया और प्रश्नकाल का बाकी समय हंगामे की भेंट चढ़ गया. सपा सदस्य उज्ज्वल रमण सिंह ने आरोप लगाया कि बिना पूर्व सूचना के यादव को रोकना आपातकाल के समान है. उन्होंने कहा कि श्री यादव इलाहाबाद विवि छात्रसंघ और अखाड़ा परिषद के कार्यक्रम में भाग लेने जा रहे थे. 

विधान परिषद में सपा सदस्यों ने जबरदस्त हंगामा किया जिससे सदन की कार्यवाही बाधित हुयी. सपा सदस्य अहमद हसन ने कहा कि तानाशाही पर उतारू भाजपा सरकार ने लोकतांत्रिक मर्यादाओं को ताक पर रख दिया है. देश और प्रदेश इस समय अघोषित आपातकाल के दौर से गुजर रहा है. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।