मुंबई. मुंबई के सीएसटी रेलवे स्टेशन के पास गुरुवार को हुए भयानक फुटओवर ब्रिज हादसे में 3 महिलाओं समेत 6 लोगों की जान चली गई. हादसे में 33 लोग गंभीर रूप से घायल हैं. इस हादसे को लेकर आई ताजा खबरों की मानें तो यह जानलेवा हादसा बृहन्नमुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) और रेलवे की घोर लापरवाही का नतीजा है. 

टाउन प्लानर पंकज वाफना का कहना है कि उन्होंने इस पुल की खराब हालत के लिए कई बार बीएमसी और रेलवे को ध्यान दिलाया था, लेकिन मामले में जम कर लापरवाही बरती गई. बता दें कि सीएसटी रेलवे स्टेशन जाना माना स्टेशन है. ये ब्रिज आजाद मैदान को सीएसटी रेलवे स्टेशन से जोड़ता है. यह पूरा इलाका वर्ल्ड हेरिटेज घोषित किया जा चुका है.

टाउन प्लानर पंकज वाफना ने बताया कि फुटओवर ब्रिज को पास करने वाले अधिकारी इस हादसे के जिम्मेदार हैं. उन्होंने बताया कि मैं भी उस पुल से कई बार गुजरा हूं और वहां से गुजरते वक्त पुल हिलता था. उसकी हालत देखकर डर लगता था कि कहीं ये गिर न जाए. इसे लेकर मैंने रेलवे और बीएमसी को तीन से चार बार पत्र भी लिखा था, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई.

उन्होंने कहा कि इस हादसे के लिए रेलवे से ज्यादा बीएमसी जिम्मेदार है. अभी रेलवे और बीएमसी के अधिकारी एक दूसरे पर आरोप लगाएंगे, फिर मामला शांत हो जाएगा क्योंकि वो जानते हैं कि मुंबईकर ऐसी चीजें जल्दी भूल जाते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत तौर पर मैं खुद भी जिम्मेदार हूं. हम भी भूल जाते हैं और अपने-अपने काम पर लग जाते हैं.

बाफना ने बताया कि इलाके के स्ट्रक्चर प्लान में इस ब्रिज का जिक्र तक नहीं था. साथ ही हाईकोर्ट में 300 से ज्यादा जर्जर पुलों की दी गई रिपोर्ट में भी इसका नाम शामिल नहीं था. उन्होंने कहा कि मुंबई में अभी भी ऐसे कई पुल हैं जिन पर गुजरते वक्त डर लगता है कहीं कोई हादसा न हो जाए.

साथ ही उन्होंने कहा कि मैं अब हाईकोर्ट जाऊंगा और इन मामलों को उठाऊंगा. बता दें कि पंकज खुद हाईकोर्ट के वकील हैं. पंकज ने कहा कि यह सब इसलिए हो रहा है क्योंकि अधिकारियों को पता है कि कुछ भी नहीं होना है, सभी बातें फाइलों में दबकर रह जाएंगी. उन्होंने कहा कि इस पुल की जांच करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें:- मुंबई फुटओवर ब्रिज हादसे में 5 लोगों के मारे जाने की पुष्टि, 36 घायल

वहीं, अब मामले में राजनीति शुरू हो चुकी है. राज्य में बीजेपी की सरकार है और बीएसी पर शिवसेना का कब्जा है. बीएमसी का कहना है कि फुटओवर ब्रिज रेलवे के हिस्से में आता है, तो वहीं रेलवे का कहना है कि यह पुल बीएमसी के अधीन आता है.

ऐसे में कांग्रेस ने हादसे के लिए रेलवे को जिम्मेदार ठहराते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल से इस्तीफे की मांग कर डाली है. महाराष्ट्र सरकार ने बीएमसी कमिश्नर, मुंबई पुलिस और रेलवे के अधिकारियों को कॉर्डिनेशन के साथ राहत और बचाव अभियान तेजी से चलाने के निर्देश दिए हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।