मौसम का मिजाज फिर से धीरे-धीरे बदलता दिख रहा है. हालांकि अभी भी सुबह-शाम ठंड है, लेकिन दिन का मौसम अब शॉल, जैकेट या भारी-भरकम स्टेवर का नहीं रहा. आने वाले दिनों में जब सुबह-शाम की ठंड भी धीरे-धीरे जाने लगेगी, तो एक बार फिर मौका आएगा वॉर्डरोब में रखे नये सीजन के कपड़ों को बाहर निकालने का. जाहिर है, आप अपनी शॉर्ट या लॉन्ग स्कर्ट को बहुत मिस कर रही होंगी. या आपकी रंग-बिरंगी कुलॉट्स, जिसका बिंदासपन और नरम कॉटन का एहसास आपको बेहद पसंद है, बहुत याद आ रही होगी. ऑफिस और पार्टीज में पहने जाने वाली फिटेड सिगरेट पैंट्स और प्लीट्स वाली ट्यूलिप पैंट्स को भी अलमारी में आराम किए बहुत दिन हो गये हैं. तो इन तमाम तरह के बॉटम वियर के साथ-साथ आज क्यों ना कुछ अन्य विकल्पों के बारे में भी बात करें. 

कुलॉट्स- जाती हुई सर्दी और आने वाली गर्मियों के बीच के मौसम के लिए कुलॉट्स एक शानदार विकल्प  है, जो देखने और फिटिंग आदि के मामले में काफी हद तक पलाजो की छोटी बहन लगती है. हां, पलाजो के मुकाबले इसकी लंबाई थोड़ी कम होती है. दरअसल, कुलॉट्स टखनों से थोड़ी ऊंची और घुटने से थोड़ी नीची होती है, जो कई मायनों में कारगो पैंट्स की तरह भी लगती है. लेकिन यह सॉफ्ट कॉटन, लिनेन आदि जैसे नरम स्टफ से बनती है, इसलिए इसे एक रफ परिधान के बजाए एथनिक लुक ड्रेस कहा जाता है.  

पलाजो- लोअर वियर के रूप में पलाजो एक ऐसा स्टाइल है, जो बीते काफी समय से ट्रेंड में बना हुआ है. चाहे एथनिक कुर्ती हो या स्टाइलिश टॉप, पलाजो पैंट्स सबके साथ बखूबी मैच करती हैं. रोजमर्रा के लिए जहां सॉलिड कलर्स के पलाजो अच्छे लगते हैं, वहीं पार्टीज वगैरह के लिए अलग-अलग प्रिंट्स में आने वाले पलाजो ज्यादा बेहतर रहते हैं. 

सिगरेट पैंट्स और लेगिंग्स- यह दोनों ही लोअर्स के ऐसे स्टाइल हैं, जो मौजूदा समय में सबसे ज्यादा ट्रेंड में हैं. लेगिंग्स तो आज इस कदर ट्रेंडी हो गयी है कि लड़कियां जींस के बजाय अब लैगिंग्स को ज्यादा पसंद करने लगी हैं. इन्हें कुरते, टॉप, टी-शर्ट आदि के साथ बड़ी खूबसूरती के साथ मैच करके पहना जा सकता है. सिगरेट पैंट्स थोड़ा फॉर्मल लुक लिये होती है, जो कमर की खूबसूरती निखारते हुए टांगों को लंबा और पतला दिखाने का काम करती हैं. 

ट्यूलिप पैंट्स- विभिन्न फैब्रिक्स में मिलने वाली धोती पैन्ट्स, कमर से थोड़ी खुली होती हैं और टखनों तक जाते-जाते थोड़ी तंग हो जाती हैं. इन्हीं से मिलती-जुलती होती है ट्यूलिप पैंट्स, लेकिन इनमें कमर पर बहुत सारी चुन्नटें होती है. यह दोनों ही लोअर्स पहनने में बेहद आरामदायक व स्टाइलिश होते हैं. 

लॉन्ग स्कर्ट - लॉन्ग स्कर्ट की बात ही कुछ और है. और जब से लॉन्ग स्कर्ट में प्रिंट्स, स्टफ, स्टाइल आदि को लेकर कई तरह के विकल्प मिलने लगे हैं, तब से यह हर युवती और महिला की वॉर्डरोब का एक अहम हिस्सा-सा बन गयी है. एथनिक लुक से लबरेज लॉन्ग स्कट्र्स की सबसे खास बात यह भी होती है कि यह पारंपरिक के साथ-साथ मॉडर्न लुक का फ्यूजन लिये होती है.  

अपनी कद-काठी के हिसाब से ही लोअर का चुनाव करें. यदि हाइट छोटी है तो सिंपल सलवार पहनें, पटियाला सलवार लंबे कद पर ज्यादा अच्छी लगती है. ’  पलाजो लगभग सभी कद-काठी की महिलाओं पर फबते हैं, लेकिन कुलॉट्स थोड़ी लंबी महिलाओं पर अच्छे लगते हैं.  ’  यदि शरीर भारी है, तो लैंगिंग टॉप के साथ ना पहनकर उसे लंबे कुर्ते के साथ पहनें.  ट्यूलिप और धोती पैंट्स सभी महिलाओं पर सूट करती हैं. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।