नयी दिल्ली. केंद्रीय मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता पीयूष गोयल ने रविवार को कहा कि गरीबों के लिए कांग्रेस की न्यूनतम आय योजना जिस तरह से सोची गयी है वह अपने आप में तबाही है. उन्होंने कहा कि यह एक अन्य घोटाले का रास्ता खोलेगा क्योंकि लाभार्थियों का चयन पूरी तरह से भ्रष्टाचार से प्रभावित होगा.

गोयल ने कहा, उन्हें नहीं लगता कि इस योजना को लागू कर पाना संभव होगा क्योंकि आय और वेतन के स्तर पर कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है. कांग्रेस का यह वादा गुब्बारे की तरह फूट जायेगा. कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में वादा किया है कि यदि वह सत्ता में आयी तो देशभर के 20 प्रतिशत सबसे गरीब लोगों के बैंक खाते में सालाना 72 हजार रुपये जमा करेगी. कांग्रेस पार्टी ने इस योजना को न्याय नाम दिया है. जहां एक ओर कांग्रेस पार्टी के नेताओं का कहना है कि इस प्रस्तावित योजना ने मतदाताओं को बड़े स्तर पर आकर्षित किया है, वहीं भाजपा ने इसे पूरी तरह से अव्यवहारिक और अर्थव्यवस्था के खिलाफ बताया है. गोयल ने एक साक्षात्कार में कहा, आर्थिक एवं वित्तीय सूझबूझ के दृष्टिकोण से यह योजना त्रासदी है. मुझे यह लगभग असंभव प्रतीत होती है क्योंकि लोगों के वेतन और आय के बारे में कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है.

उन्होंने कहा, लोगों (लाभार्थियों) का चयन पूरी तरह से भ्रष्टाचार से भरा होगा और यह अपने आप में ही एक घोटाला बन सकता है. यह उन घोटालों की शृंखला की एक और कड़ी बन जायेगा जिसके लिए कांग्रेस कुख्यात है. केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, ऐसा लगता है कि कांग्रेस अभी भी पुरानी मानसिकता में जी रही है कि महज नारों से जनता को मूर्ख बनाया जा सकता है, लेकिन उन्हें यह मालूम होना चाहिए कि आकर्षक नारों से जनता को अब मूर्ख नहीं बनाया जा सकता है. उन्होंने कहा, तीन पीढ़ियों से उनके नेताओं ने बड़े-बड़े वादे किये, लेकिन औसत से भी नीचे प्रदर्शन कर सके और वह भी भ्रष्टाचार से भरा रहा. भारत के लोग होशियार हैं और इस तरह के झूठ में अब नहीं फंसेंगे, कम से कम बड़े वादों और आकर्षक नारों से मूर्ख नहीं बनेंगे. गोयल ने कहा कि इनसे इतर मोदी सरकार देश के टिकाऊ विकास के लिए काम कर रही है और 130 करोड़ भारतीयों को आत्मनिर्भर बनाकर तथा सम्मानयोग्य जीवन यापन प्रदान कर उन्हें बेहतर भविष्य देने के लिये प्रतिबद्ध हैं.

उन्होंने कहा, हमारे लिए यह आगे बढ़ने की प्रतिस्पर्धा है जहां हर कोई शीर्ष पर पहुंचना चाहता है. कांग्रेस के लिए यह नीचे गिरने की होड़ है जिसमें हर कोई अधिक गिरना चाहता है. बेरोजगारी के सवाल पर गोयल ने कहा कि भारत विश्व की सबसे तेजी से वृद्धि करती अर्थव्यवस्था है और विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की कगार पर है. यह बिना रोजगार सृजन के नहीं हो सकता है. विपक्षी पार्टियां बेरोजगारी के मुद्दे पर सरकार को निशाना बना रही है. गोयल ने कहा, आप बिना रोजगार सृजन किये विश्व की सबसे तेजी से वृद्धि करती अर्थव्यवस्था और विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था नहीं बन सकते हैं. रोजगार के नये अवसर सृजित हो रहे हैं. वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि भाजपा ने अगले पांच साल में बुनियादी संरचना में 100 लाख करोड़ रुपये निवेश करने का वादा किया है जिससे रोजगार सृजन आगे बढ़ेगा. इनमें से एक तिहाई राशि का इस्तेमाल कामगारों को वेतन देने में किये जाने का अनुमान है.

मोदी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए गोयल ने कहा कि सरकार ने लोगों के सोचने का तरीका कमजोरी से बदलकर मजबूती में तब्दील कर दिया है और देश के काम करने के तरीके में भी भारी बदलाव आया है. उन्होंने कहा कि देश और देश के लोग अब महत्वाकांक्षी हो गये हैं तथा अब वे ‘चलता है' वाली मानसिकता से बाहर निकल गये हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।