भोपाल. एक दिन पहले भोपाल में पकड़े गए आईपीएल सट्‌टेबाजी गिरोह  के तार हांगकांग और दुबई से जुड़े हुए हैं.  विवार को पुलिस ने इस मामले को आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग को सौंपा, जिसके बाद आयकर टीम के 50 सदस्यों ने राजधानी में 7 ठिकानों पर छापा मारा. यहां से जब्त दस्तावेजों में टीम को अब तक  करोड़ों  रु. से अधिक के ट्रांजेक्शन के प्रमाण मिले हैं. भोपाल में आईपील के मैचों पर सट्टा लगाने वाले अब तक के सबसे बड़े अंतर्राष्ट्रीय गैंग का पर्दाफाश किया है. अरबों-खरबों  रुपये के इस सट्टे में कई हाईप्रोफाइल लोगों के शामिल होने का शक है. इन लोगों का कंट्रोल रूम दुबई में बताया जा रहा है. इस गैंग  के तार पाकिस्तान के कराची से भी हो सकता है.

मिली जानकारी के मुताबिक हाई प्रोफाइल ऑनलाइन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) सट्टेबाजी में शामिल गिरफ्तार10 सट्‌टेबाजों ने पूछताछ में बताया कि वे आईपीएल मैच में जीत-हार पर लोगों से दांव मंगवाते थे. आरोपियों के पास दो लॉकर भी मिले हैं. ये भारत सोनी और संजीत चावला के हैं. सोमवार को दोनों लॉकर खोले जाएंगे. आयकर टीम ने आरोपियों से आयकर अधिनियम की धारा 131 और 136 के तहत पूछताछ की. यह प्रदेश में पहला मामला है जिसमें खुद आयकर विभाग ने जांच अपने हाथ में ली है.

LINK भेजकर APP DOWNLOAD कराते थे सटोरिए

पड़ताल में विभाग को बड़े पैमाने पर डायरियां और कंप्यूटर लैपटॉप में ई-डॉक्यूमेंट्स मिले हैं. इनमें एजेंट के नाम और राशि कोडवर्ड में दी गई है. बताया जा रहा है कि इस सट्‌टेबाजी के तार सीधे हांगकांग और दुबई से जुड़े हुए हैंं. यह पूरा सट्‌टा एक एप के जरिए खेला जाता था. इसे गूगल प्ले स्टोर में जाकर सीधे डाउनलोड नहीं किया जा सकता था. दांव लगाने वाले की पहचान और भराेसा कायम होने के बाद सटोरिये उसे एक लिंक भेजते थे, जिसके जरिए वह एप को डाउनलोड करता था. उसके बाद यह सट्‌टा खेला जाता था.

हर सीजन में लेते हैं नया यूआरएल

बताया जा रहा है कि सटोरिये केवल आईपीएल के दौरान ही नया डोमेन रजिस्टर्ड कराते हैं. सीजन खत्म होने के बाद इसे खत्म कर दिया जाता है. पिछले आईपीएल सीजन में भोपाल में चार से पांच सट्‌टेबाजी के डोमेन चल रहे थे. एक डोमेन क्रिकएक्सचेंज के जरिए रोजाना 500 करोड़ रुपए के दांव लगाए गए थे. यह दांव 180 एजेंट के जरिए लगाए गए. हर एजेंट को एक सीसी लिमिट दी गई थी. उसी आधार पर यह तय होता था कि वह रोजाना कितने रुपए के दांव लगा सकता है. भोपाल में चौक बाजार स्थित कई एजेंट को 5-5 करोड़ रुपए की लिमिट दी गई थी.

पुलिस के मुताबिक इस गिरोह का संचालन दुबई से होता था.  इस अड्डे पर करीब 500 करोड़ रुपये सट्टा लगाया जा रहा था. नाम गोपनीय रखते हुए पुलिस अधिकारियों ने यह भी कहा है कि आईपीएल के मैचों पर लगाये जा रहे इस सट्टे की रकम को हवाला कारोबार के जरिये इधर से उधर किया जा रहा है. आईपीएल में सट्टेबाजी के अलावा देश के एक और बड़े हवाला गिरोह का पर्दाफाश भी हो सकता है.

इस सट्टे में कई कथित बड़े लोग शामिल हैं जिनकी गिरफ्तारी  आने वाले दिनों में  हो सकती हैं. गैंग के लोग ऑनलाइन सट्टा लगाते थे और हवाला के जरिए पैसा इधर से उधर करते थे. कुछ वेबसाइटों और मोबाइल ऐप का इस्‍तेमाल करके दुबई स्थित ऑपरेटर सट्टा लगवाते थे. दुबई में मौजूद ऑपरेटर इस गिरोह का कर्ता-धर्ता और गिरफ्तार आरोपियों में से एक का रिश्‍तेदार है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।