पलपल संवाददाता, जबलपुर. बहुत दिन के बाद दादाजी की गोद में बैठने का एक नाती को सौभाग्य प्राप्त हुआ. उस दृश्य का ध्यान कीजिए. वह पोता भी दादा की भांति बात करता है. संसारी प्राणी नया भले हो पर पुराना संसारी होता है. छोटा कहलता है पर छोटा होता नहीं. उसे अनंत काल का भव का अनुभव होता है, संस्कार होते हैं. प्रत्येक व्यक्ति कैसे अपने ईष्ट की प्राप्ति करे यही साधना है. उक्ताशय के उद्गार दयोदय तीर्थ में आचार्य विद्यासागर महाराज ने व्यक्त किए.

उन्होंने कहा कि पोते का प्यार दादा को बांध लेता है. पोता जिद करता है तो दादा को मानना पड़ता है. पोता कई सवाल करता है, दादा उत्तर देते हैं. कहीं जा रहे हो तो पोता बार-बार पूछता है कि अभी कितनी दूर है? दादा को कहना पड़ता है कि आ ही गया अब. पोता कहता है कि जब वो आ ही रहा है, तो क्यों न हम यहीं पर ठहर जाएं. यह हास्यविनोद है. अब दादा जी क्या उत्तर देंगे?

मोक्षमार्ग भी ऐसा ही- साधक लोग सुरक्षा-कवच के साथ चलते हैं. मोक्षमार्ग ऐसा ही है. सामयिक बैठ सकते हैं. यहां भी प्रश्न उठता है कि कब उठेंगे? दो बजता ही नहीं है. वही दादा-पोता वाली स्थिति बन जाती है. महाराज के पास फंस से जाते हैं. हमारे पास अविश्वास का कोई काम नहीं है. लेकिन ये विश्वास प्रत्येक को प्राप्त होता ही नहीं है. श्रम स्वयं को ही करना होता है. जो श्रम करता है उसका नाम श्रमण होता है. शयन करने वाले चूक जाते हैं. जागृत ही प्राप्त करते हैं. यह तो शरण मार्ग है. संयम बहुत आवश्यक होता है. जीवन के अंतिम श्वांस तक वह चलता रहता है. दीर्घकाल तक साधना रखनी होती है.

मुनिगण का केशलोंच हुआ

दयोदय में मुनिगण दुर्लभसागर, नीरोगसागर, निश्चलसागर, श्रमणसागर व संधानसागर का केशलोंच हुआ. इस दौरान श्रावकों की उपस्थिति में दृश्य अत्यंत भावपूर्ण बन गया. जैन मुनि , साध्वी परंपरा के अनुसार जैन मुनि अपने बालो काटने कैंची ब्लेड या उस्तरे का प्रयोग न कर अपने हाथों से केश उखाड़ते हैं, इसे ही केशलोंच कहते है, इस कठिन प्रक्रिया के दौरान कई बार खून भी रिस आता है, उसे किसी दवा से नहीं, वरन गोबर के कंडे की राख लगा कर रोका जाता है. जैन मुनि एवं साध्वी दीक्षा के पश्चात यही कठिन व्रत का पालन करते हैं, केशलोंच के पश्चात मुनि निर्जला उपवास करते हैं. यह उपवास 24 घंटे या उस से भी ज्यादा का हो सकता है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।