पलपल संवाददाता, जबलपुर, कोटा. पश्चिम मध्य रेलवे के कोटा मंडल में रेल कर्मचारियों पर अफसरों के तानाशाह रवैया अपनाने, प्रताडि़त किये जाने से आक्रोश फैल गया, जिसके खिलाफ आज मंगलवार 23 अप्रेल को वेस्ट सेेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन के तत्वावधान में मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के समक्ष जोरदार प्रदर्शन किया गया. इस दौरान अफसरों को चेतावनी दी गई कि वे कर्मचारियों को बेवजह प्रताडि़त करना बंद करें, अन्यथा स्थिति गंभीर हो सकती है.

वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव ने बताया कि स्थाई वार्ता तंत्र (पीएनएम) एवं अनौपचारिक बैठकों के माध्यम से कोटा मंडल के इंजीनियरिंग एवं लोको रनिंग विभाग के कर्मचारियों की न्याय संगत मांगों पर सहमति होने के उपरान्त भी आदेश जारी करने में रेल अधिकारियों की कछुआ चाल के कारण भारी असंतोष को आज मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के समक्ष विशाल रैली निकालते हुये गेट मीटिंग के रूप में उग्र प्रदर्शन करने को मजबूर हुये. भीषण गर्मी होने के बावजूद भी सैंकड़ों रेलकर्मियों की 28 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन मंडल रेल प्रबंधक कोटा को सौंपा गया.

15 दिन में डीआरएम नहीं लेते हैं निर्णय तो पीएनएम का करेंगे बहिष्कार

महामंत्री श्रीगालव ने कहाकि आज के ज्ञापन में उठाये गये तमाम मुद्दों पर मंडल रेल प्रबंधक द्वारा 15 दिवस में कोई कार्यवाही नहीं की गई तो आने वाली स्थाई वार्ता तंत्र की बैठक का बहिष्कार किया जायेगा एवं आन्दोलन तेज किया जायेगा. रोड़ साईड स्टेशनों पर कार्यरत इंजीनियरिंग विभाग के कर्मचारियों एवं गेटमैनों को पीने के पानी जैसी मामूली व्यवस्था को भी रेल प्रशासन नहीं कर पा रहा है, इससे बड़ी अकर्मण्यता का उदाहरण क्या हो सकता है. ट्रेकमेन्टरों के 50 से अधिक पद स्मॉल ट्रेक मशीन लेवल-2 के भरे जाने हेतु फरवरी माह में प्रक्रिया पूर्ण करने के उपरान्त भी परिणाम अभी तक घोषित नहीं किया गया. वरि मंडल इंजीनियर उत्तर के अधिन एलसी गेट नं. 174, 175, 176, 183, 191, 196 पर इतनी भीषण गर्मी में पीने के पानी की कोई व्यवस्था नहीं है. हाल ही रेलवे बोर्ड द्वारा ट्रेकमैनों की कैडर रिस्ट्रक्चरिंग 10:20:20:50 के अनुपात में शीघ्र की जाये, आरएफडी में कार्यरत ट्रेकमैनों को सेफ्टी शूज उपलब्ध कराये जाये, ट्रेकमैनों को केवल अनुरक्षण के काम में लगाया जाये एवं रेलवे बोर्ड द्वारा जारी दिशा निर्देशों के तहत वरियता क्रम में मेट एवं चाबीवालों का कार्य लिया जाये, डी एवं ई क्लास गेटों का टीवीयू नये नियमों के तहत शीघ्र करते हुये अपग्रेड कराया जाये, नहीं रहने लायक आवासों को कंडम घोषित किया जाये एवं कर्मचारियों के काटे गये मकान किराया भत्ता वापस दिलाया जाये, ट्रेकमेन के सहायक मंडल इंजीनियर स्तर के पदोन्नति एमएसीपीएस , यात्रा भत्ता, रात्रि डयूटी एलाउंस, टयूशन फीस एवं अवकाश खातों को अपडेट करते हुये शीघ्र कार्यवाही की जाये. कर्मचारियों की गोपनीय रिपोर्ट की छायाप्रति प्रत्येक वर्ष जून में उपलब्ध कराई जाये. इन तमाम मांगों पर द्रुत गति से निर्णय लेते हुये शीघ्रता से कार्यवाही सुनिश्चित की जाये.

कर्मचारियों की यह मांगेें हैं लंबित

मंडल अध्यक्ष कोटा एस.के. भार्गव ने बताया कि रनिंग कर्मचारियों की सातवें वेतन आयोग में विकल्प के आधार पर 127 लोको पायलेट का वेतन निर्धारण विगत दो वर्षों से फाईलों मे दौड़ रहा है. सहायक लोको पायलेट के पदोन्नति 80:20 में, मालगाड़ी लोको पायलेट के एमएसीपीएस का मद एवं राजधानी लोको पायलेट के स्टेपिंग के साथ म्यूचल ट्रांसफर एवं स्वयं की प्रार्थना स्थानान्तरण के स्थानीय मामलों में निवर्तमान अधिकारी द्वारा अकारण देरी किये जाने से संरक्षा से सीधे तौर से जुडे हुये रेलकर्मियों में निराशा की भावना घर करने लगी थी. कोटा मंडल पर कर्षण परिचालन विभाग के अधिकारियों की तानाशाही को महाप्रबंधक को अवगत कराया गया.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।