सियासत. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि प्रदेश के विकास में समाज के हर वर्ग की भागीदारी महत्वपूर्ण है, लिहाजा राज्य सरकार सभी के सुझावों के आधार पर प्रदेश के विकास के लिए समग्र, संतुलित एवं समावेशी बजट तैयार करेगी.

उनका कहना है कि- हमारा प्रयास है कि राज्य में उद्योगों और निवेश को बढ़ावा मिले ताकि यहां रोजगार के अवसर तेजी से बढ़ सकें.

प्रदेश के बजट को लेकर सीएम गहलोत ने राज्य स्तरीय कर परामर्शदात्री समिति की बैठक में विभिन्न व्यापारिक एवं औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों से चर्चा कर सुझाव लिए. इन सुझावों को महत्वपूर्ण करार देते हुए उन्होंने कहा कि इनका परीक्षण कर उचित सुझावों को बजट में शामिल करने का प्रयास किया जाएगा.

इससे पहले सीएम गहलोत ने युवाओं, महिला प्रोफेशनल्स एवं खिलाड़ियों के साथ भी बजट पूर्व चर्चा की और युवाओं एवं महिलाओं से बजट को लेकर उनके सुझाव लिए.

जाहिर है, सीएम गहलोत सरकार का बजट युवाओं, महिलाओं और उद्यमियों पर फोकस होगा.

सीएम गहलोत का कहना है कि- हमारी सरकार प्रदेश के विकास के लिए उद्यमियों के साथ सतत संवाद बनाए रखेगी और उद्योग एवं निवेश को प्रोत्साहन देने में किसी तरह की कमी नहीं रखी जाएगी. उद्यमियों के अनुभवों एवं सुझावों का लाभ लेते हुए राज्य को देश का औद्योगिक हब बनाने का प्रयास करेंगे.

एमएसएमई उद्यमियों की दिक्कतों को दूर करने के लिए लाए गए एमएसएमई (फैसिलिटेशन ऑफ एस्टेब्लिशमेंट एण्ड ऑपरेशन) अध्यादेश-2019 तथा एमएसएमई वेबपोर्टल को लेकर उनका कहना है कि जिस भावना के साथ हमने यह शुरुआत की है, इसका लाभ जमीनी स्तर तक पहुंचाने के लिए औद्योगिक संगठन आगे आए.  

सीएम गहलोत का कहना है कि- हमारी पिछली सरकार के समय सिंगल विंडो एक्ट लाकर इंस्पेक्टर राज खत्म करने का प्रयास किया गया, अब हम इस सिस्टम को और प्रभावी बनाएंगे, ताकि उद्यमी बिना किसी भय के सहजता के साथ अपना उद्यम स्थापित कर सकें और उसका विस्तार कर सकें.

यही नहीं, बाड़मेर रिफाइनरी, दिल्ली-मुम्बई इन्डस्ट्रीयल कॉरीडोर एवं डेडीकेटेड फ्रंट कॉरीडोर को प्रदेश के विकास के लिए गेम चेंजर बताते हुए उन्होंने कहा कि इन प्रोजेक्ट को राज्य सरकार सर्वोच्च प्राथमिकता देगी, जिनसे न केवल रोजगार को बढ़ावा मिलेगा बल्कि अन्य औद्योगिक इकाइयां भी पनपेंगी.

सीएम गहलोत का मानना है कि नौजवान पीढ़ी हमारा आने वाला भविष्य है, ऐसे में युवाओं, महिला प्रोफेशनल्स, खिलाड़ियों एवं स्टार्टअप के माध्यम से नये उद्यमियों को आगे बढ़ाने पर राज्य सरकार का पूरा फोकस रहेगा. बजट में भी ऐसे प्रावधान किए जाएंगे, जिनसे युवा एवं महिला वर्ग को अधिक-से-अधिक प्रोत्साहन मिले तथा प्रदेश का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को उचित सम्मान मिले.

राजनीतिक जानकारों का मानना है कि इस बजट के जरिए सीएम गहलोत की कोशिश रहेगी कि प्रदेश का ताजा सियासी समीकरण सुधारा जा सके, ताकि आनेवाले विभिन्न चुनावों में इसका फायदा मिल सके.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल

2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा

3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार

4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक

5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन

6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे

7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर

8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट

9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका

10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत

11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता

************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।