दुनिया में सबसे अधिक 1,30,000 हाथियों वाले अफ्रीकी देश बोत्सवाना में आज कल एक गंभीर संक्रामक बीमारी फैली हुई है, जिसकी वजह से यहां महज दो महीने में 100 हाथियों की मौत हो चुकी है. यह जानकारी मंगलवार को बोत्सवाना की सरकार ने दी. 

वन्यजीव और राष्ट्रीय उद्यान विभाग ने अपने एक बयान में बताया कि प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि हाथी एंथ्रेक्स से मर रहे हैं जबकि कुछ सूखे के प्रभाव से मर चुके हैं. दरअसल, एंथ्रेक्स एक गंभीर संक्रामक रोग है जो बेसिलस एन्थ्रेसिस नाम के बैक्टीरिया से फैलता है. हालांकि यह एक दुर्लभ बीमारी है, लेकिन संक्रमित जानवरों के संपर्क में आने से यह इंसानों में भी फैल सकती है. 

वन्यजीव और राष्ट्रीय उद्यान विभाग के मुताबिक, यहां भयंकर सूखे के कारण हाथी चरते समय घास के साथ मिट्टी भी खा लेते हैं, जिसकी वजह से वो एंथ्रेक्स के बैक्टीरिया के संपर्क में आ जाते हैं और उन्हें यह गंभीर बीमारी हो जाती है. 

एक सर्वे के मुताबिक, बोत्सवाना में 2014 से 2018 के बीच हाथियों की मौत में 593 फीसदी का इजाफा हुआ है. इसका एक कारण सूखा तो है ही, लेकिन सबसे बड़ा कारण है यहां हाथियों का अवैध शिकार. बता दें कि साल 2014 में बोत्सवाना में हाथियों के अवैध शिकार पर पाबंदी लगा दी गई थी, लेकिन लोगों के भारी विरोध के चलते इसी साल इस पर लगी रोक हटा ली गई थी. 

वन्यजीव प्राधिकरण ने बताया कि अभी हाल ही में उत्तरी बोत्सवाना में चोबे नदी के सामने और नानटंगा क्षेत्रों में 14 हाथी मृत पाए गए थे. प्राधिकरण का कहना है कि एंथ्रेक्स के बैक्टीरिया दूसरे जानवरों में न फैलें, इसलिए मृत हाथियों के शवों को जला दिया जाएगा. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।