आंखे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है. दिवाली के बाद से वातावरण में वायु प्रदूषण बढ़ जाता है. यह सिर्फ सांस संबंधी बीमारियां ही नहीं बल्कि आंखों में जलन, खुजली और लालिमा पैदा करता है. खासकर के सर्दियों में शुष्क हवा बहने के कारण आंखो को ऐसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. अब ऐसे में आंखों का ख्याल रखना बेहद मुश्किल हो जाता है.

चश्मे पहनने वाले या लेंस लगाने वाले लोगों को और भी प्रॉब्लम्स का शिकार होना पड़ता है. ऐसे में हम आपके लिए कुछ ऐसे टिप्स लाए है जिनसे आंखों में जलन और खुजली जैसे समस्याओं से निजात मिल सकती है. आइए आपको बताते है आंखों में जलन और खुजली से कैसे राहत पा सकते है. 

शोध के मुताबिक आंखो का सरफेस भी तरल होता है. जिसे विस्क्स लिक्विड कहा जाता है. अगर आपको अपनी आंखो को जलन या खुजली से बचाना है तो फ्रेश लिक्विड से आंखों को साफ़ रखना चाहिए. पानी की जगह और भी लिक्विड है जिन्हे यूज कर आप अपनी आंखो का ध्यान रख सकते है. जैसे-

कैस्टर ऑयल- आंखों के डॉक्टर का कहना है कि कैस्टर ऑयल से आंखों को काफी आराम मिलता है. इसके इस्तेमाल से थकान के साथ-साथ लालिमा, जलन और खुजली तीनो से निजात पाया जा सकता है. इस्तेमाल करने का तरीका 

-कैस्टर ऑयल से रुई को भिगो लें. 

-अच्छे से रुई को निचोड़े. 

-आंखो पर इसे रख कर आधे घंटे के लिए आराम करें. 

गुलाब जल-  इससे आंखो में जमी गंदगी का सफाया हो जाता है. जिससे इन्फेक्शन से बचाव के साथ-साथ आपकी आंखों को जलन नहीं होती है.  इस्तेमाल करने का तरीका 
-गुलाब जल की 1 या 2 बूंद आंखों में डालें. 
-रुई के साथ भी पैच बनाकर आंखो पर रख सकते है.  

ठंडा दूध - ठंडा दूध आंखों के लिए बहुत लाभकारी साबित होता है.  इस्तेमाल करने का तरीका 
-ठंडा दूध के 1 या 2 ड्रॉप्स आंखो में डालें. 
-रुई के साथ पैच बनाकर भी आप अपनी आंखों में जलन से राहत पा सकते है.

इन सब्जियों का भी इस्तेमाल कर सकते है. 

खीरा- -खीरे के टुकड़े ले और आंखों पर आधे घंटे के लिए रखें. 

आलू- -आलू को अच्छे से छील लें. टुकड़े काट कर अपने आंखो पर कुछ देर के लिए रखें. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।