नई दिल्ली. केंद्र सरकार गांधी परिवार को मिलने वाली एसपीजी सुरक्षा को वापस लेगी. गांधी परिवार को मिलने वाली जेड प्लस सुरक्षा मिलती रहेगी, लेकिन उनके सुरक्षा दायरे में एसपीजी कवर हटा लिया जाएगा. अब उनकी सुरक्षा का जिम्मा सीआरपीएफ के पास रहेगा. सरकार के अनुसार, पिछले सालों में ऐसे कई मौके आए हैं, जब राहुल गांधी, सोनिया गांधी  और प्रियंका गांधी  ने अपनी सुरक्षा संबंधी नियमों को तोड़ा है. सरकार ने पहले भी चेतावनी दी थी कि अगर गांधी परिवार ने नियमों को तोड़ा या अपनी यात्रा के बारे में जानकारी नहीं दी तो उनकी सुरक्षा में से एसपीजी कवर हटा लिया जाएगा.

सरकार के अनुसार, गांधी परिवार ने पिछले सालों में कई बार नियमों को तोड़ा और एसपीजी के साथ सहयोग नहीं किया. ऐसे में सरकार ने उनकी सुरक्षा से एसपीजी कवर हटा लिया गया. नियमों का उल्लंघन राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और सोनिया गांधी की ओर से किया गया. इनमें बिना बुलेट प्रूफ गाड़ी के यात्रा करना, कई मौकों पर खुली गाड़ी में यात्रा करना शामिल है.

2005 से 2014 तक राहुल गांधी ने देश के अलग अलग हिस्सों में 18 बार बिना बुलेट प्रूफ गाड़ी के यात्रा की. 2015 के बाद तो बुलेट प्रूफ गाड़ी के बिना यात्रा करने के मामले में राहुल गांधी हजारों बार नियम को तोड़ा. 2015 से मई 2019 तक 1892 मौके ऐसे आए राहुल गांधी ने दिल्ली में बुलेट प्रूफ गाड़ी के बिना यात्रा की.

इतना ही नहीं जून 2019 तक उन्होंने दिल्ली से बाहर 247 बार बिना बुलेट प्रूफ गाड़ी के यात्रा की. राहुल गांधी कई बार खुली जीप में यात्रा कर भी सुरक्षा नियमों के अलावा मोटर व्हीकल एक्ट का उल्लंघन कर चुके हैं. 2017 में गुजरात के बनासकांठा में भी अपनी यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने बुलेट प्रूफ गाड़ी के बिना यात्रा की थी.

जबकि एसपीजी की ओर से उन्हें ऐसा न करने के लिए कहा गया था. इसी दौरान यहां पर हुई पथराव की घटना में एक एसपीजी जवान घायल हुआ था. इस घटना को टाला जा सकता था यदि राहुल गांधी बुलेट प्रूफ गाड़ी का इस्तेमाल करते. बाद में इस घटना को कांग्रेस ने संसद में उठाया. इसके बाद गृहमंत्री ने लोकसभा में बताया कि राहुल गांधी ने कई मौकों पर एसपीजी के नियमों को अनदेखा किया.

1991 से राहुल गांधी ने अपनी 156 विदेशी यात्राओं में से 143 पर उन्होंने एसपीजी सुरक्षा नहीं ली. इन 143 यात्राओं में ज्यादातर में उन्होंने यात्रा कार्यक्रम को ग्यारहवें घंटे में साझा किया, जिससे एसपीजी अधिकारियों को यात्रा पर जाने से रोका जा सके. इतना ही नहीं राहुल गांधी ने पिछले पांच वर्षों में अपने सार्वजनिक भाषणों में कई मौकों पर एसपीजी का नाम घसीटा, जो अवांछनीय है.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 2015 से मई 2019 तक दिल्ली में यात्रा करते समय 50 से ज्यादा बार बुलेट प्रूफ गाड़ी का इस्तेमाल नहीं किया है. इतने समय में सोनिया गांधी ने देश में यात्रा करते समय 13 बार बुलेट प्रूफ गाड़ी को छोड़कर यात्रा की. 2015 से लेकर अब तक करीब 24 विदेश यात्राओं में सोनिया गांधी एसपीजी सुरक्षा अफसरों को लेकर नहीं गईं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।