अक्सर रात के वक्त बार-बार पेशाब जाने से लोग परेशान हो जाते हैं. उनकी नींद बार-बार टूटती है. हालांकि, वह इस बात को सामान्य मानते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है. अगर आप रात के वक्त एक या दो बार से अधिक पेशाब करने के लिए बिस्तर से उठते हैं तो यह आपके बीमार होने का लक्षण है. लोगों को ऐसा लगता है कि पानी ज्यादा पीने से उन्हें बार-बार  पेशाब आ रही है. लेकिन, इसकी वजह से होने वाली थकान और कमजोरी की तरफ हमारा ध्यान नहीं जाता है.

विशेषज्ञों के अनुसार अगर आप रात में दो बार से ज्यादा पेशाब करने जाते हैं तो डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, प्रोस्टेट कैंसर और अन्य बड़ी बीमारियों के संकेत हैं. हालांकि डॉक्टर यह भी मानते हैं कि खान पान में बदलाव करने से इस परेशानी से छुटकारा मिल सकता है. 

हालांकि अगर आपको पहले से कोई रोग है और उसका इलाज चल रहा है तो भी कई बार रात में बार-बार पेशाब जाने की समस्या होती है. अगर आपका हाई ब्लड प्रेशर का इलाज चल रहा है तो आपको रात में बार-बार पेशाब की समस्या हो सकती है क्योंकि इस बीमारी में ली जाने वाली दवाएं किडनी पर एक्स्ट्रा तरल पदार्थ को बाहर निकालने के लिए दबाव बनाती हैं. इस कारण भी रात में बार-बार पेशाब करने के लिए उठना पड़ता है. 

इसी तरह गर्भवती महिलाओं को भी रात में बार-बार पेशाब करने के लिए बाथरुम जाना पड़ता है. इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि प्रेगनेंसी के दौरान यूरेटस बड़ा होने लगता है, जिसकी वजह से ब्लैडर पर दबाव बढ़ने लगता है. इस दौरान महिलाओं को बार-बार पेशाब करने के लिए जाना पड़ता है. अगर आप बिना किसी बीमारी के रात में बार-बार पेशाब जाते हैं तो इसका असर आपकी किडनी पर पर सकता है.

आपको फौरन डॉक्टर को अपनी इस समस्या को बताना चाहिए. इसके अलावा, अगर आपको रात में बार-बार पेशाब जाने की समस्या है तो आप रात को तरल आहार लेना कम कर दें. साथ ही मसालेदार खाना, अल्कोहल और कैफीन के सेवन से बचें. पेल्विक फ्लोर मसल्स और ब्लैडर को मजबूती देने वाली एक्सरसाइज करें. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।