खबरार्थ. कोरोना वायरस नाम से ही आज डर का माहौल देश में फैला हुआ है. अभी तक केरल में चीन से लौटे तीन व्यक्तियों के संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है. वैसे तो भारत देश इससे निपटने के लिए अक्षम है पर आम जागृति रखना भी जरुरी है. कोरोना वायरस के जेनेटिक कोड के विश्लेषण में यही सामने आया है कि यह मनुष्यों को संक्रमित करने की क्षमता रखने वाले कोरोना वायरस की तुलना में सार्स के ज्यादा नजदीक है.

भारत समेत दुनिया के 20 देशों में कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं. लोगों में खौफ का माहौल है. कोरोना वायरस के उद्गम स्थल चीन की सरकार भी महामारी से लड़ने की ठान चुकी है. चीन की सरकार हर वह कदम उठा रही है जो जरूरी है. कोरोना वायरस को लेकर कई तरह के भ्रम या मिथक फैल गए हैं. विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस से मौत का खतरा करीब 20 फीसदी ही है तो यह मिथक ठीक नहीं है कि कोरोना वायरस होने पर मौत होना तय है.

यह भ्रम भी फैला हुआ है कि आपके घर में पालतू जानवर से यह वायरस आपको संक्रमित कर सकता है हालांकि यह वायरस कुत्ते या बिल्ली से भी फैल सकता है. ऐसे में जानवरों से सम्पर्क के बाद स्वच्छता का पूरा ध्यान रखा ही जाना चाहिए. 2011 में स्टीवन सोडरवर्ग के निर्देशन में बनी फिल्म कंटेजियन अब जबर्दस्त तरीके से वायरल हो रही है.

इस फिल्म में एक खतरनाक वायरस के फैलने की कहानी दिखाई गई है. भारतीयों को यह फिल्म देखकर भयभीत होने की जरूरत नहीं है बल्कि खुद सतर्क रहने और दूसरों को इसके बारे में जागरूक करने की जरूरत है. विश्व स्वास्थ्य संगठन की सबसे बड़ी चिंता यही है कि यह वायरस खराब स्वास्थ्य सुविधाओं वाले गरीब देशों में न फैल जाए.

अगर ऐसा होता है तो भयंकर परिणाम होंगे . भारतीयों को यह भी चाहिए कि चीन से आयातित खाद्य पदार्थों का सेवन भी नहीं करे. भारतीय परिस्थितियों में आम तौर पर सर्दी-जुकाम को एक सामान्य बीमारी की तरह लिया जाता है और लोग ज्यादा फिक्र नहीं करते. आज की परिस्थितियों में लापरवाही की जरा भी गुंजाइश नहीं है. जांच के बाद प्रभावित लोगों का अधिकतम सावधानी से उपचार ही एकमात्र उपाय है और केन्द्र सरकार ने इसकी व्यवस्था की है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।