नई दिल्ली. मध्यप्रदेश के कार्यकारी मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज 23 मार्च सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर उन्हें राज्य की स्थिति से अवगत कराया. उल्लेखनीय है कि 22 विधायकों की बगावत के बाद सरकार अल्पमत में आ गई थी और कमलनाथ को इस्तीफा देना पड़ा.

प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद आने वाले राज्यसभा चुनाव में पार्टी को अपनी ताकत दिखानी होगी. ज्योतिरादित्य सिंधिया के 22 विधायकों के साथ भाजपा में जाने के बाद पार्टी अब केवल एक सीट जीत सकती है. सूत्रों के मुताबिक, दोनों नेताओं ने राज्यसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर चर्चा की.

पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिए दो उम्मीदवारों- दिग्विजय सिंह और पूर्व बसपा नेता फूल सिंह बरैया को उतारा है. लेकिन 22 विधायकों के इस्तीफ के बाद कांग्रेस के विधायकों की संख्या 92 और भाजपा के विधायकों की संख्या 106 हो गई है. लिहाजा कांग्रेस की दोनों सीटें जीतने की संभावना काफी कम है.

कमलनाथ ने 20 मार्च को पद से इस्तीफा दे दिया था. इस्तीफा देते समय उन्होंने कहा, मुझे पांच साल के लिए जनादेश मिला था, लेकिन काम करने के लिए 15 महीने ही मिले. सरकार को अस्थिर करने की यह भाजपा की साजिश थी.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।