अहमदाबाद. देश और दुनिया इन दिनो कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित हैं और इसके कारण रोजमर्रा कामकाज, व्यवस्था तथा व्यापार को लेकर प्रशासन और आमजन तक परेशानी में हैं. विश्व के वैज्ञानिक इसका उपचार ढूंढने में लगे हैं और मानव समाज के लिये गंभीर बन चुकी इस चुनौती ने जीवन के लिये भय का वातावरण भी निर्मित किया हैं, लेकिन इस बीच अच्छी खबर है कि देश के प्रख्यात श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ के आचार्य व ज्योतिष सम्राट ऋषभचन्द्र सूरीश्वर महाराज कहते हैं कि ग्रहोें की गति से सभी व्यवस्थायें प्रभावित होती हैं और इस कोरोना की समस्या के मामले में 3 अप्रैल 2020 के बाद राहत की संभावनायें बनेगी तथा 4 मई के बाद इस पर प्रभावी नियंत्रण से जनता को मुक्ति मिलने की संभावना है.

उन्होंने कहा कि 22 मार्च के बाद मंगल व शनि के मकर राशि में आने से गर्मी का वातावरण बनेगा. 29 मार्च के बाद गुरू, शनि व मंगल की मकर राशि में युति के बाद 3 अप्रैल से कोरोना का काउंट डाउन शुरू हो जायेगा, परन्तु इसके भय से मुक्ति का मार्ग 4 मई के बाद प्रशस्त होगा. उन्होंने कहा कि इस कोरोना वायरस संक्रमण का भारत देश के लोगों पर अन्य देशो की अपेक्षा कम असर होने के आसार हैं.

ऋषभविजय महाराज ज्योतिष के विद्वान माने जाते हैं और उन्होने पहले श्रीराम मन्दिर के मसले का 2019 में समाधान होने, केन्द्र में भाजपा सरकार की 2019 में वापसी, मध्यप्रदेश में मार्च में कमलनाथ सरकार में बदलाव की भविष्यवाणी की थी, जो सही साबित हुई हैं!

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।