लंदन. कोरोना वायरस को लेकर देश-विदेशों में हाहाकार मचा हुआ है. इस बीच नोबेल पुरस्कार से सम्मानित और स्टैनफोर्ड बायोफिजिसिस्ट माइकेल लेविट ने बड़ा दावा किया है. उन्होंने कहा है कि कोरोना वायरस का दुनिया में सबसे बुरा दौर शायद पहले ही खत्म हो चुका है. उनके मुताबिक, कोरोना से जितना बुरा होना था, वह हो चुका है और अब धीरे-धीरे हालात सुधरेंगे. माइकेल ने कहा कि असली स्थिति उतनी भयावह नहीं है जितनी आशंका जताई जा रही है.

चीन पर भी की थी भविष्यवाणी 

इससे पहले उन्होंने चीन में कोरोना वायरस को लेकर भविष्यवाणी की थी. जो सही साबित हुई है. तमाम हेल्थ एक्सपर्ट्स दावा कर रहे थे चीन को कोरोना वायरस पर काबू पाने में लंबा वक्त लग जाएगा, लेकिन लेविट ने इस बारे में बिल्कुल सही आकलन लगाया. लेविट ने फरवरी महीने में लिखा था कि हर दिन कोरोना के नए मामलों में गिरावट देखने को मिल रही है. इससे यह साबित होता है कि अगले सप्ताह में कोरोना वायरस से होने वाली मौत की दर घटने लगेगी. उनकी भविष्यवाणी के मुताबिक, हर दिन मौतों की संख्या में कमी आने लगी. दुनिया के अनुमान से उलट चीन जल्द ही अपने पैरों पर फिर से उठकर खड़ा हो गया. दो महीने के लॉकडाउन के बाद कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हुबेई प्रांत भी खुल गया है.

लेविट ने चीन में कोरोना से 3250 मौतों और 80,000 मामलों का अनुमान लगाया था. जानकारी के मुताबिक, मंगलवार तक चीन में 3277 मौतें और 81171 मामले सामने आए हैं. वह आगे कहते हैं, आंकड़ा अभी भी परेशान करने वाला है, लेकिन इसमें वृद्धि दर के धीमी होने के साफ संकेत हैं. लेविट के मुताबिक, सोशल डिस्टेंसिंग सबसे जरूरी है, खासकर इसका ध्यान रखा जाना बेहद जरूरी है कि बड़ी संख्या में लोग एक जगह इकठ्ठा ना हों, क्योंकि ये वायरस इतना नया है कि ज्यादातर आबादी के पास इससे लडऩे की इम्युनिटी ही नहीं है और वैक्सीन बनने में अभी भी महीनों का वक्त लगेगा. लेविट ने कहा कि पैनिक कंट्रोल करना सबसे अहम है. हम बिल्कुल ठीक होने जा रहे हैं. माइकेल लेविट को 2013 में रसायन के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार दिया गया था.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।