भोपाल. मध्य प्रदेश में महिलायें अब किसी भी थाने में अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगी. इसके लिये उन्हें थाने जाने की भी जरूरत नहीं, बस उनके एक फोन पर एफआईआर दर्ज कर ली जायेगी. महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराधों को देखते हुये पुलिस मुख्यालय सख्त हो गया है. 

मुख्यालय की महिला अपराध शाखा महिला अपराधों को लेकर विशेष जन जागरण अभियान चला रही है. इस अभियान के तहत पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को अपराधों से जुड़ी कार्यवाही के बारे में बताया जा रहा है. यह प्रावधान किया गया है कि पीडि़त महिला जहां चाहे वहां अपनी एफआईआर दर्ज करा सकती है. पहले महिलाएं लैंगिक अपराधों के मामले में अपनी शिकायत अमूमन महिला थाने में ही करा सकती थीं. अब वे किसी भी थाने में जाकर या फोन करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हैं.

इसके लिये महिलाओं को थाने आने के लिए कोई भी पुलिस अधिकारी या कर्मचारी बाध्य नहीं कर सकता है. महिला की शिकायत पर किसी महिला कांस्टेबल या अधिकारी को पीडि़ता के घर या घटनास्थल जाकर उसकी शिकायत सुननी होगी. बयान दर्ज कराने के लिए भी पीडि़त महिला के घर जाना होगा.

लॉकडाउन के दौरान महिला अपराध को लेकर पुलिस मुख्यालय का विशेष जन जागरण अभियान जारी है. अधिकांश सोशल मीडिया के जरिए अभियान चलाया जा रहा है. इस जन जागरण अभियान के तहत महिलाओं को जागरूक करने के साथ पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को भी जागरूक करने का काम किया जा रहा है. उन्हें बताया जा रहा है कि महिला अपराधों में किस तरीके से कार्यवाही करना चाहिए. साथ ही यह भी बताया गया कि महिला अपराधों को लेकर कानून में क्या विशेष प्रावधान दिए गए हैं. इस अभियान के तहत पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारियों को महिला अपराध और बाल अपराध से जुड़े कानूनों के प्रावधानों के बारे में जानकारी दी जा रही है. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।