पलपल संवाददाता, जबलपुर. पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल के न्यू कटनी जंक्शन स्थित टीआरएस डिपो में अनुशासन तार-तार हो चुका है. यहां पर बड़े इंजीनियर, सेक्शन इंजीनियर को आफिस में पीट रहे हैं तो सेक्शन इंजीनियर अपने मातहत हेल्पर को. पिछले 10 दिनों में मारपीट की दो घटनाएं सामने आयी हैं, जिसमें पिटने वालों ने वरिष्ठ अधिकारियों को लिखित शिकायत की है, लेकिन जिम्मेदार मामले में किसी तरह की कार्रवाई नहीं कर रहे हैं. जिससे आक्रोश की स्थिति निर्मित हो चुकी है.
बताया जाता है कि एनकेजे स्थित टीआरएस डिपो में इस तरह की अनुशासहीनता की घटनाओं के सामने आने पर कर्मचारियों में भय है और माहौल पूरी तरह से अराजक हो चुका है. वहीं इस पूरे मामले पर पीडि़त कर्मचारियों ने सचिव पीएनएम को फिर से शिकायत की है और उचित कार्रवाई की मांग की है. 

कैसे पढ़े लिखे हैं इंजीनियर्स.?

बताया जाता है कि दोनों घटनाओं में पीटने वाले इंजीनियर्स गुंडा, मवालियों की तरह टीआरएस डिपो में गाली-गलौज करते हुए मारपीट करते रहे और देख लेने की धमकी देते रहे. जिससे इस घटना के चश्मदीद कर्मचारी यही कह रहे थे कि ये इंजीनियर्स (अधिकारी) कैसे, पढ़े लिखे हैं, जो सरेआम गुंडागर्दी करते हुए मातहत को पीट रहे हैं.

पहली घटना- एसएसई ने हेल्पर को पीटा

पमरे के जबलपुर रेल मंडल अंतर्गत टीआरएस डिपो में मारपीट की पहली गटना गत 15 मई को सामने आयी, जब अनुभव मिश्रा नामक हेल्पर के साथ सीनियर सेक्शन इंजीनियर (एसएसई) द्वारा सरेआम कर्मचारियों के सामने मारपीट की गई. इस घटना की लिखित शिकायत अनुभव मिश्रा ने की, किंतु कोई कार्रवाई नहीं हुई.

दूसरी घटना : एडीईई ने एसएसई को धुना

टीआरएस शेड में मारपीट की दूसरी घटना गत 22 मई शुक्रवार को सामने आयी, जब असिस्टेंट डिवीजनल इलेक्ट्रिकल इंजीनियर (एडीईई/टीआरएस) सुनील कुमार चंदेल द्वारा सीनियर सेक्शन इंजीनियर (एसएसई) आरएस वर्मा के साथ मारपीट की गई. उक्त दोनों घटनाओं की शिकायतें सीनियर डीईई/टीआरएस से की गई है, किंतु वे भी दोनों अनुशासनहीनता की घटनाओं पर मौन हैं. जिसके बाद सचिव पीएनएम को आज 23 मई को लिखित कम्पलेंट की गई है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।