मुंबई. वैश्विक बाजारों में तेजी तथा विदेशी निवेशकों की जारी लिवाली के बीच बैंकिंग और बुनियादी संरचना क्षेत्र के शेयरों में उछाल के दम पर शुक्रवार 5 जून को घरेलू शेयर बाजार बढ़त की राह पर लौट आये. बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स ने पिछले कारोबारी दिवस की गिरावट से उबरते हुए 306.54 अंक यानी 0.90 प्रतिशत की तेजी दर्ज की और 34,287.24 अंक पर बंद हुआ. यह सेंसेक्स का तीन महीने का उच्चतम स्तर है. इसी तरह, एनएसई का निफ्टी भी 113.05 अंक यानी 1.13 प्रतिशत बढ़कर 10,142.15 पर पहुंच गया. 

देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई का एकल शुद्ध लाभ मार्च तिमाही में चार गुना से अधिक बढ़कर 3,580.81 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. इसके दम पर एसबीआई का शेयर 7.90 प्रतिशत चढ़ गया. यह सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में सर्वाधिक तेजी रही. टाटा स्टील, बजाज फाइनेंस, एचडीएफसी बैंक, एनटीपीसी, एक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक भी मजबूती के साथ बंद हुए. इनमें छह प्रतिशत तक की तेजी रही. दूसरी तरफ, टीसीएस, हिंदुस्तान यूनिलीवर, बजाज ऑटो और इंफोसिस के शेयर 2.19 प्रतिशत तक गिरकर बंद हुए. रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) के शेयर में कारोबार के दौरान साल भर के उच्चतम स्तर पर पहुंच जाने के बाद मुनाफा वसूली देखने को मिली. कंपनी ने अपनी डिजिटल इकाई जियो प्लेटफॉर्म्स में 1.85 प्रतिशत हिस्सेदारी अबू धाबी स्थित सरकारी निवेशक मुबाडाला को 9,093.60 करोड़ रुपये में बेचने की घोषणा की. 

सप्ताह के दौरान सेंसेक्स में 1,863.14 अंक यानी 5.74 प्रतिशत की तेजी आयी. निफ्टी भी पूरे सप्ताह में 561.85 अंक यानी 5.86 प्रतिशत की बढ़त में रहा. कारोबारियों के अनुसार, विशिष्ट शेयरों की मजबूती के अलावा, वैश्विक बाजारों के सकारात्मक संकेतों और विदेशी निवेशकों के लगातार लिवाल बने रहने के कारण घरेलू शेयर बाजार में तेजी का रुख रहा. 

प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने बृहस्पतिवार को 2,905.04 करोड़ रुपये के शेयरों की शुद्ध खरीदारी की.कोटक सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष (पीसीजी रिसर्च) संजीव जरबड़े ने कहा, मौजूदा सप्ताह वैश्विक बाजारों के लिए अच्छा रहा है, क्योंकि प्रमुख बाजारों ने एक ठोस बढ़त दर्ज की है. उन्होंने कहा कि अमेरिका के कमजोर आर्थिक आंकड़ों तथा अशांति के बीच अर्थव्यवस्था में लॉकडाउन के धीरे-धीरे हटाये जाने से उत्पन्न सकारात्मक भावना ने तेजी को प्रेरित किया गया है.

सैमको सिक्योरिटीज एंड स्टॉक नोट के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिमीत तोदी ने कहा कि बाजार ने सप्ताह के दौरान सभी को हैरान किया. मौजूदा तेजी की एकमाच तर्कपूर्ण वजह नकदी की उपलब्धता बतायी जा सकती है. बीएसई के समूहों में धातु, दूरसंचार, बेसिक मटीरियल्स, इंडस्ट्रियल्स, बैंकेक्स और पावर 3.86 प्रतिशत तक की बढ़त में रहे.हालांकि सूचना प्रौद्योगिकी और एफएमसीजी समूह 0.75 प्रतिशत तक की गिरावट में रहे.

वृहद आधार पर बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप ने सेंसेक्स की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया. इनमें 2.51 प्रतिशत तक की वृद्धि दर्ज की गयी. एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग, दक्षिण कोरिया का कोस्पी और जापान का निक्की बढ़त के साथ बंद हुआ. यूरोप में शेयर बाजार दो प्रतिशत से अधिक की बढ़त के साथ खुले.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।