पलपल संवाददाता, भोपाल. मध्यप्रदेश में शिवराजसिंह चौहान के मंत्रीमंडल के विस्तार के बाद से विपक्ष द्वारा लगातार कटाक्ष किए जा रहे हैं. कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने तो शिवराजसिंह को प्रदेश का सबसे असहाय मुख्यमंत्री बताया है, उन्होने कहा कि देश के इतिहास में मध्यप्रदेश की पहली सरकार होगी जिसमें 12 मंत्री ऐसे बने है जो अभी विधायक भी नहीं है. वहीं प्रदेश के कई जिलों में भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं में भी मंत्रीमंडल के विस्तार को लेकर आक्रोश है. 

कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान इस समय असहाय साबित हो रहे है, जो अपने करीबी विधायकों को मंत्रीमंडल में जगह नहीं दिला पाएं है, बल्कि ऐसे लोगो को जगह दी गई है जो अभी विधायक भी नहीं है, मध्यप्रदेश के इतिहास में शायद ऐसा पहली बार हुआ है जब 12 मंत्री ऐसे बना दिए गए जो विधायक भी नहीं है.

वहीं भाजपा के पांच सीनियर विधायक जो पांच बार से अधिक जीते है उनकी अनदेखी कर दी गई, जो उनका अपमान ही है, आने वाले समय में शिवराजसिंह चौहान सरकार पर भारी पड़ेगा. श्री मसूद ने इस मौके पर ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी आड़े हाथ लेते हुए कहा है कि श्री सिंधिया कहते थे कि मैं उसूलों और मध्यप्रदेश के विकास के लिए गया हूं, अब साबित हो गया है कि श्री सिंधिया खुद अपने स्वार्थ राज्यसभा में जाने की महात्वाकांक्षा के लिए सौदेबाजी कर अपने लोगों को मंत्री बनाने के लिए गए थे.

कुल मिलाकर हर तरफ मंत्रीमंडल के विस्तार को लेकर राजनैतिक सरगर्मी तेज है. इधर एमपी की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने भी शिवराज कैबिनेट विस्तार पर असंतोष जताया है, वे भी सिंधिया समर्थकों के मंत्री बनाए जाने पर नाराज है, उन्होने कहा कि मंत्रीमंडल विस्तार में जातीय असंतुलन है बिगड़ा है, उन्हे भी तब्बजों नहीं दी गई है जो मुझसे जुड़े है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।