जबलपुर. केन्द्र सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों, रेल के निजीकरण, न्यू पेंशन स्कीम, डीए फ्रीजिंग के खिलाफ आज शुक्रवार 3 जुलाई को राष्ट्रविरोधी प्रदर्शन जबलपुर में भी किया गया. वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन के मंडल सचिव नवीन लिटोरिया व मंडल अध्यक्ष बीएन शुक्ला के नेतृत्व में कोचिंग डिपो में प्रदर्शन व नारेबाजी की गई.

यूनियन के मंडल सचिव नवीन लिटोरिया ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए  बताया कि श्रमिकों को लॉकडाउन अवधि के वेतन, इस दौरान दुर्घटनाग्रस्त मजदूरों को मुआवजा, फैक्ट्री एवं कारखाने कोविड-19 से बचाव के मानकों का पालन करते हुए पुन: खुलवाना, प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्य मे रोजगार एवं आर्थिक अनुदान देने, श्रम कानूनों मे परिवर्तन वापिस लेने, कर्मचारियों को बढ़े हुए डीए का भुगतान करने, कोविड-19 से जुड़े संविदा कर्मियों को अतिरिक्त भुगतान करने तथा जोखिम में बीमा करने आदि पर सरकार को कार्यवाही करनी चाहिए. वहीं कोविड-19 की आड़ में केंद्र सरकार ने धड़ाधड़़ कई श्रमिक विरोधी निर्णय लिये गये हैं, जिसका पुरजोर विरोध किया जा रहा है.

प्रदर्शन में यह रहे उपस्थित

इस प्रदर्शन में मेन शाखा से रोमेश मिश्रा, जरनैल सिंह, रवि गौतम, रमेश कुमार, मो.राजिक, सतीश, जीतेन्द्र, ओमप्रकाश, शशिपाल मीना, राकेश पांडेय, कमलेश कुमार, निशांत, सोमनाथ, संदीप, मोती, दीपक, कृष्णा एवं बड़ी संख्या में यूथ विंग पदाधिकारी एवं कोचिंग डिपो कर्मचारी मौजूद रहे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।