भोपाल. भोपाल में हुये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल के विस्तार के बाद बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता, नेता और पदाधिकारी भाजपा में शामिल हो गए हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की मौजूदगी में इन सभी ने भाजपा की सदस्यता ली.

कांग्रेस के जो नेता बीजेपी में शामिल हुए हैं, उनमें 30 से ज्यादा जिलों के कांग्रेस पदाधिकारी शामिल हैं. उन्होंने 2 पूर्व मंत्री, 8 पूर्व विधायकों के साथ सिंधिया के सामने भाजपा का दामन थाम लिया. वहीं, 5 जिलाध्यक्ष, 9 कार्यकारी जिलाध्यक्ष भी भाजपा में शामिल हो गए. कांग्रेस के 15 महामंत्री भी भाजपा के साथ आ गए हैं.

भाजपा में टिकट न मिलने से नाराज होकर कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया फिर भाजपा में लौट आए हैं. इसके साथ ही पूर्व मंत्री रघुवीर सिंह सूर्यवंशी भी भाजपा में शामिल हो गए. पूर्व विधायक गजराम सिंह यादव, राव राजकुमार सिंह यादव, जगन्नाथ सिंह रघुवंशी, गनपत पटेल, केदार मंडलोई, अजीत सिंह, बृजेन्द्र सिंह मालाहेडा, राजेन्द्र भारती कांग्रेस छोड़ भाजपा की सदस्यता ले चुके हैं.

कांग्रेस के शशि केथोरिया, के के सिंह कालूहेडा, समंदर पटेल, गिरीश पटेल, ज्ञानवती,  हरिशंकर चौधरी, अनुराग वर्धन हजारी, मोहन सेंगर, प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह गौतम सहित 15 महामंत्री, 13 प्रदेश सचिव भाजपा में शामिल हो गए.

इसके अलावा प्रदेश युवक कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष पवन जायसवाल, 5 जिलाध्यक्ष, 9 कार्यकारी जिलाध्यक्षों ने भी भाजपा की सदस्यता ले ली. प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी, शाहवर आलम, मिनेंद्र डागा, राजेन्द्र ठाकुर, चंदेरी नगर पालिका अध्यक्ष उषा साद, शाजापुर नगर पालिका अध्यक्ष शीतल क्षितिज भट्ट सहित जनपद पंचायत अध्यक्ष सहित 30 से अधिक जिलों के कांग्रेस पदाधिकारी अब भाजपा में शामिल हो गए हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।