उपभोक्ता सरंक्षण कानून, अर्थात- बाजार व्यवस्था में खरीदारी के दौरान उपभोक्ता हितों की सुरक्षा हेतु किये गये प्रावधान और व्यवस्थायें. कानूनी तौर पर व्यापक प्रावधानों के बावजूद बाजार व्यवस्था में उपभोक्ता शिकायतें हैं और उपभोक्ताओं को भ्रमित करने पर्याप्त वातावरण मौजूद है. बाजार में हर तरह की सामग्री व सेवायें उपलब्ध हैं और उपभोक्ता अपने विवेक से अच्छी वस्तुओं का चयन करने के लिये स्वतंत्र हैं. बाजार में उपभोक्ताओं को आकर्षित करने की मौजूद- उपहार, ईनाम आदि योजनाएं, विज्ञापनों का प्रभावी वातावरण, ऑफर के इंतजाम और श्रेष्ठ वस्तुसेवा उपलब्ध करवाने के दावों के बीच उपभोक्ता की सजगता की परीक्षा है.
किसी भी वस्तुसेवा के लिये मूल्य देकर या मूल्य देने का वचन देकर खरीदारी पर उपभोक्ता इस कानून के प्रावधानांे के तहत समस्या होने पर राहत प्राप्त करने कार्यवाही कर सकता है. मूल विषय खरीदारी के समय सजगता नहीं बरतने से जुड़ा है और वस्तुसेवा की गुणवत्ता, एमआरपी, मिलावट, मापतौल, मानकचिन्ह, वस्तु के उपयोग अवधि-तिथि, गारन्टी-वारन्टी, बिल लेना, समस्या की स्थिति में उपलब्ध करवाई जाने वाली सेवाओं की जानकारी आदि कई मुद्दों पर ध्यान नहीं देे पाने से बाद में परेशानी की स्थिति में उपभोक्ता को दिक्कतंे आती हैं.
बाजार व्यवस्था का उपभोक्ता महत्वपूर्ण घटक है. खरीदारी के समय ध्यान दिया जाये तो हम कई समस्याओं से बच सकते हैं और हमारे हित भी पूरी तरह सुरक्षित हो सकते हैं. उपभोक्ता को कानून के तहत बाजार में उपलब्ध वस्तुओं, सेवाओं मे से इच्छित वस्तुसेवा के चयन का अधिकार, स्वास्थ्य एवं सम्पति के लिये नुकसानदायक वस्तुओं व सेवाओं से सुरक्षा का अधिकार, बाजार में उपलब्ध वस्तुओं, सेवाओं के बारे मे सूचना प्राप्त करने का अधिकार, समस्याओं की स्थिति में समुचित मंचों पर सुनवाई का अधिकार, वस्तुसेवा से नुकसान की स्थिति में क्षतिपूर्ति प्राप्त करने का अधिकार और उपभोक्ताओं को अधिकारों व कर्तव्यों के प्रति जागरूक बनाने उपभोक्ता शिक्षा का अधिकार दिया गया है. देश में उपभोक्ता सरंक्षण हेतु न्यायिक, प्रशासनिक और स्वैच्छिक स्तर की व्यवस्थायें अपना काम कर रही हैं.
बाजार में उपभोक्ता की जागरूकता ही सबसे महत्वपूर्ण हैं. मोल भाव करें , गुणवत्ता देखें, माप तौल पर ध्यान दें , उपयोग तिथि देखें, गारन्टी, वारन्टी हैं तो देखें, मानकचिन्ह युक्त सामग्री को बढ़ावा दें , प्रतिस्पर्धी मूल्यों को देखकर खरीदारी करें, वस्तुसेवा के मूल्य का आंकलन करें जिससे आपकी जागरूकता का प्रदर्शन हो. इसके बावजूद कोई समस्या आती है तो उपभोक्ता मंचों की न्यायिक प्रक्रिया के माध्यम से राहत प्राप्त करने की कार्यवाही संभव है. उपभोक्ता हित में कानून को अधिक प्रभावी बनाने का कार्य भी जारी है. कानून की कमियांे को दूर करने व व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने का काम लगातार हो रहा है और पूर्व की अपेक्षा उपभोक्ताओं के लिये सुरक्षा वयवस्थाएं भी बेहतर बनी हैं. जरूरत है कि उपभोक्ता सजगता बनें.
वर्तमान समय में उपभोक्ता को समय के अभाव और कार्यवाही नहीं करने की मानसिकता के कारण परेशानी का सामना करना पड़ता है. सामान लेते समय औपचारिकताओं व संकोच से उपर उठकर गुणवत्तायुक्त वस्तुसेवा पर ध्यान केन्द्रित करें. कोई शिकायत है तो कुछ रुपये-पैसो के लिये झंझट मे नहीं पड़ने और समय के अभाव की मानसिकता से बाहर आकर कानूनी प्रावधानांे के तहत कार्यवाही करें. व्यवस्था सुधार की प्रक्रिया में जागरूक उपभोक्ता के तौर पर हिस्सा बन कर आगे आयें ताकि संतुलित बाजार व्यवस्था की स्थापना के अभियान में सहभागी बन सकें.


जानिए 2016 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में

1. असम में पुलिस फायरिंग के चलते टूटा हाई वॉल्टेज तार, 11 लोगों की मौत, 20 घायल

2. केंद्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, जांच में मैगी सफल: नेस्ले इंडिया

3. गैर-चांदी आभूषणों पर उत्पाद शुल्क को लेकर जेटली अडिग

4. शंकराचार्य का विवादित बोल- साई पूजा की देन है महाराष्ट्र का सूखा

5. कन्हैया और उमर खालिद समेत 5 छात्र हो सकते है JNU से सस्पेंड

6. करोड़ों लोगों ने देखा प्यार का ये इजहार, आप भी जरूर देखिए

7. महाराष्ट्रः बार-बालाओं पर पैसे लुटाने या उन्हें छूने पर होगी सजा

8. नितिन गडकरी की पीएम मोदी को सलाह, गजलें सुनें, टेंशन फ्री रहें

9. कोल्लम हादसा-मंदिर के पास मिली विस्फोटकों से भरी तीन गाड़ि‍यां

10. शत्रु ने की नीतीश जमकर तारिफ, कहा- 2019 में PM पद के दावेदार

11. पाक अदालत में सबूत के तौर पर पेश हुआ ग्रेनेड फटा, 3 घायल

12. असम-बंगाल में हुई बंपर वोटिंग, CM गोगाई के खिलाफ केस दर्ज


************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स