स्तर के लिहाज से गाना हल्का है. करतूत के हिसाब से प्रकट हुए हल्केपन के लिए ही इसे इस्तेमाल करने में बुराई नहीं है. किसी ने गाया था, ओय राजू, प्यार न करियो, डरियो, दिल टूट-टूट जाता है. हम बजरिये कलम गुनगुनाने को मजबूर हुए, ओय छोटू, कॉल न करियो, डरियो, भांडा फूट जाता है. तो साहब, छोटू ने काल कर ही ली और खूब की, भांडा भी फूट ही गया. मामला छोटे से नाम वाले के बहुत बड़े-बड़े अरमान पूरे होने का है. सोशल मीडिया के बाजार में छोटे कद के बड़ी शर्मनाक करतूतें वायरल हुई. एक अखबार ने इस वार्तालाप को छाप भी दिया. चार रोज हुए, जब एक ऐसे शख्स का वीडियो वायरल हुआ था, शिवराज सिंह चौहान की सरकार में ही वो कहीं का नहीं रहा. आज उस व्यक्ति का हनी टाक खलबली मचा रहा है, जो शिवराज सिंह चौहान की सरकार में हर कहीं प्रभावी रहा. इस बातचीत का विश्लेषण करें तो कई बातें साफ दिखती हैं. पहली, यह हजरत विशिष्ट किस्म की कल्पनाशीलता के मामले में वात्सयायन के कलयुगी अवतार कहे जा सकते हैं.
महिला सुरक्षा के लिहाज से यह वर्तमान दौर के मैं हूं ना को शिद्दत से फालो करते रहे. हां, यह और बात रही उनके इस भाव को विस्तार का शायद मौका नहीं मिल सका. वह एक हनी की फिक्र में लगातार दुबले होते रहे. मसलन, कहीं उसका पति घर पर तो नहीं है. वह मुंबई जा रही है तो फर्जी नाम से कहां ठहराई जाएगी. चिंता इस बात भी कि महिला को अकेलेपन का नाग न डसे. इसलिए तनहाई से निपटने के इंतजामात के तौर पर वाइन उपलब्ध कराना भी उनकी सेवा का एक हिस्सा रहा. वार्तालाप यह भी साफ बताता है कि नारी का सम्मान करने वाले छोटू ने अपने दफ्तर और अन्य ठिकानों (जिनमें दिल्ली और मुंबई के होटल भी शामिल हैं) के दरवाजे इस महिला के लिए हमेशा खुले रखे. महिला ने भी नमक का कर्ज चुकाने में कसर नहीं उठा रखी. जो फरमाइश आयी, उसे चट से पूरा कर दिया, वो भी देखो, देखो, ये है जलवा वाली कैबरे की शैली में.

बातचीत की समीक्षा साफ बताती है कि यह सिर्फ वो वाला वह मामला था, जिसमें नैतिक-अनैतिक और पाप-पुण्य जैसी दकियानूसी सोच से परे अलौकिक संबंध स्थापित करने का आनंद था. कहने वाला बेकार ही कह गया कि आनंद ही पाप है और आमतौर पर पाप ही आनंद है. मीडिया के खुराफाती सूत्र बताते हैं कि अगला आडियो, वीडियो या कोई ऐसा ही वार्तालाप किसी मौजूदा रसूखददार का भी होगा. ऐसा हुआ तो चौंकना नहीं चाहिए. गलती शिवराज सिंह चौहान के स्वच्छ चरित्र की है. आम मान्यता है कि जो जैसा होता है, वैसा ही दूसरों का आंकलन भी कर लेता है. शिवराज चरित्र के दृढ़ हैं. इसलिए अपने अफसरान और विधायक सहित कई भाजपाइयों को भी वह ऐसा ही समझने का जतन कर गये. भले ही वे तेरह साल मुख्यमंत्री रहे पर प्रशासन पर उनकी पकड़ कभी रही नहीं. हां, उनके प्रशासन ने जनता पर उनकी पकड़ बनाने में भरपूर योगदान दिया. इसलिए वे हर सुबह भोपाल छोड़ जनता के बीच घूमते-घामते थे और यहां राजधानी में रसूखदार शहद में डूबकी लगाते थे.


इसलिए बतौर मुख्यमंत्री वे प्रदेश की खाक छानते रहे और उनके पीठ पीछे बाकी लोग (तात्पर्य अधिकांश से है) अपने-अपने लिए खाट मांगते रहे. इसे अश्लीलता के चश्मे से न देखें लेकिन यह सच है कि इन सारे मामलों की शुरूआत लंगोट के कच्चों की ओर से सरकाय लो खटिया जाड़ा लगे... से हुई और उसका हश्र सरकाय दो बटुआ, भाड़ा लगे वाली ब्लैकमेलिंग पर जाकर सामने आया. मामला पुरानी सरकार का ही नहीं है. सिलसिला टाप लेवल से अब भी जारी है. मौजूदा मुख्यमंत्री कमलनाथ भी मध्यप्रदेश के लिए दूसरी दूनिया के आदमी हैं. इसलिए वह भी उसी विश्वास के चलते विष-वास के शिकार हो गये, जिनके खुलासे आने वाले कुछ आडियो/वीडियो से होने की पूरी संभावना जतायी जा रही है. हनी ट्रैप बनाम मनी ट्रैप वाले इस मामले का कलंक मध्यप्रदेश के माथे से अब शायद ही कभी हटाया जा सकेगा. यह व्यापमं जैसा ही वह नासूर हो गया है, जिसका इलाज संभव नहीं दिखता. वजह यह कि जिनके पास इस इलाज की ताकत है, वह खुद चाहते हैं कि मर्ज कायम रहे.


ताकि विरोधी पक्ष सहित अपने खेमे के भी कई चेहरों (इनमें राजनेता सहित आला अफसर भी शामिल हैं) को आसानी से दबाकर रखा जा सके. पुलिस और कचहरी के बीच झूलती तमाम हनी तो बेनकाब कर दी गयीं, लेकिन क्या कोई उन नकाबों को भी नोंचकर फेंकने की मर्दानगी दिखायेगा, जिनके पीछे दिग्गज सफेदपोश चेहरे आज भी छिपे हुए हैं. ये चेहरे मीडिया में भी हैं. इसलिए एक मीडियाकर्मी होने के नाते मेरे भीतर भी शर्म का भाव निरंतर रूप से गहराता जा रहा है. इस शर्म को गुस्से का तड़का लगाकर एक बात कह रहा हूं. काश! ये वीडियो सरकार/पुलिस के हत्थे न चढ़े होते. वे उन शख्सों के हाथ लग जाते, जो राजधानी में कभी किशोर या अल्पना टॉकीज का संचालन करते थे. इन वीडियो की श्रेणी वाली फिल्में ही उसकी आय का मुख्य स्रोत थीं. मोबाइल और नेट ने उनकी दुनिया के लिए कुछ बाकी छोड़ा नहीं. उन फिल्मों की संख्या घटी और यह टॉकीजे बंद हो गयी. क्यों नहीं यह तमाम वीडियो इन टॉकीज मालिक को दे दिये गये? कम से कम उसका पेट पलता रहता. अब तो सबूत के नाम पर जमा की गयी इन तमाम क्लिपिंग्स की और कोई उपयोगिता रह ही नहीं गयी है. बंद लिफाफा भले ही कोर्ट में है लेकिन ऐसे ही सही हमाम के नंगे अपने चेहरों मोहरों के साथ प्रकट तो होने ही चाहिए. इनका सार्वजनिक होना बहुत जरूरी है.


जानिए 2016 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में

1. असम में पुलिस फायरिंग के चलते टूटा हाई वॉल्टेज तार, 11 लोगों की मौत, 20 घायल

2. केंद्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, जांच में मैगी सफल: नेस्ले इंडिया

3. गैर-चांदी आभूषणों पर उत्पाद शुल्क को लेकर जेटली अडिग

4. शंकराचार्य का विवादित बोल- साई पूजा की देन है महाराष्ट्र का सूखा

5. कन्हैया और उमर खालिद समेत 5 छात्र हो सकते है JNU से सस्पेंड

6. करोड़ों लोगों ने देखा प्यार का ये इजहार, आप भी जरूर देखिए

7. महाराष्ट्रः बार-बालाओं पर पैसे लुटाने या उन्हें छूने पर होगी सजा

8. नितिन गडकरी की पीएम मोदी को सलाह, गजलें सुनें, टेंशन फ्री रहें

9. कोल्लम हादसा-मंदिर के पास मिली विस्फोटकों से भरी तीन गाड़ि‍यां

10. शत्रु ने की नीतीश जमकर तारिफ, कहा- 2019 में PM पद के दावेदार

11. पाक अदालत में सबूत के तौर पर पेश हुआ ग्रेनेड फटा, 3 घायल

12. असम-बंगाल में हुई बंपर वोटिंग, CM गोगाई के खिलाफ केस दर्ज


************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स