अब इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि यूपीए सरकार के दौरान रफाएल को लेकर भारत और फ्रांस के बीच गोपनीयता को लेकर कोई समझौता हुआ था.अगर फ्रांस के पूर्व राष्टपति फ्रांस्वा ओलांद ने कहा है कि करोड़ों डालर के रफाएल सौदे में अनिल अंबानी को भारत सरकार ने आफसेट पार्टनर के तौर पर फ्रांस पर थोपा था.तो भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री को इस सौदे की सारी सचाई देश के सामने रखने में कहां से कोई अड़चन आ सकती है? हां, अगर भूतपूर्व होकर ही उन्हें भी अपने दामन पर लगे दागों की सफाई करनी है तो बात अलग है.हालांकि ओलांदे के बयान के बाद फ्रांस और भारत सरकार की इस मामले पर सफाई भी आ गई है.खुद ओलांदे को भी कहना पड़ा कि मीडिया ने उन्हें गलत तरीके से प्रस्तुत किया है.


लेकिन संदेह का बीज अब पड़ तो गया है, तो पड़ गया.अब भाजपा और कांग्रेस के आरोपों के बीच यह मामला, मेरी कमीज, तेरी कमीज से ज्यादा सफेद है,का हो गया है.किस्सा बिल्कुल बोफोर्स तोप के मामले जैसा होता जा रहा है.मिस्टर क्लिन की छवि से शुरूआत करने वाले राजीव गांधी पर बोफोर्स तोप में दलाली के आरोपों ने जैसा उनकी छवि को दागदार किया था, न खाऊंगा ने खाने दूंगा के नारे को बुलंद कर सत्ता में आए नरेन्द्र मोदी के साथ भी वहीं होने जा रहा है.उनकी ईमानदारी संदेह के दायरे में तो आ ही गई है.इस मामले में राहुल गांधी की तारीफ करना होगी कि वे अपनी छवि के विपरीत एक परिपक्व नेता के तौर पर पूरी आक्रामकता के साथ नरेन्द्र मोदी को घेर रहे हैं.दूसरी तरफ मोदी के बचाव में भाजपा के बड़े दिग्गज मैदान में आ रहे हैं.पर राहुल का सवाल अपनी जगह सही है.राहुल का कहना है कि मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि प्रधानमंत्री के मुंह से एक शब्द भी क्यों नहीं निकल रहा है?


यह भी सही है कि अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस नागपुर में लड़ाकू विमान बनाने की फैक्ट्री बना रही है.ये कंपनी विमान के पुर्जे खरीदने के समझौते कर चुकी है और कंपनी का दावा है कि उसे अमरीकी नौसेना के सातवें बेड़े के युद्धपोतों की मरम्मत और सर्विस का ठेका मिला है.लेकिन छोटे अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस की प्रोफाइल और कंपनी की योग्यता को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं.कुछ जानकारों का कहना है कि कंपनी ने जितने बड़े करार किए हैं, उसके हिसाब से अनिल अंबानी की कंपनी कथित तौर पर अनुभवहीन है.इस बात पर किसी को संदेह भी नहीं है.इस मामले में सरकार में बैठै मंत्रियों और मोदी के हिमायतियों का सारा जोर कांग्रेस के पुराने पापों को गिनाने पर ज्यादा है.जाहिर सी बात है कि कांग्रेस के उसके पापों की सजा जनता दे रही है.लेकिन क्या कांग्रेस के पाप गिनाने से भाजपा और मोदी सरकार पाक साफ हो जाएंगे?


राहुल के आरोप तथ्यात्मक हैं.कांग्रेसाध्यक्ष अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी जी ने 30 हजार करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट स्वयं अनिल अंबानी को दिया.अनिल अंबानी पर 45000 करोड़ रुपये का कर्ज है.उन्होंने कभी कोई विमान नहीं बनाया.उन्होंने कुछ ही दिन पहले कंपनी खोली और नरेंद्र मोदी जी ने हिंदुस्तान की जेब से पैसा निकाला और अनिल अंबानी की जेब में डाल दिया.मैं आपको बस यह बता रहा हूं कि जिस व्यक्ति पर आपने भरोसा किया था, उसने आपका भरोसा तोड़ा है.अब अगर राहुल गांधी पर खुद कई आरोप हैं या उनके जीजा राबर्ट वडेरा पर आर्थिक अपराधों के मामले हैं तो इसका मतलब यह तो नहीं हो जाता कि वे मोदी सरकार या भाजपा को उसके पाप गिनाने के हकदार नहीं रह जाते हैं.राहुल अपने पर लगे दागों को लेकर कोर्ट कचहरी में उलझे हैं.मोदी अभी प्रधानमंत्री हैं इसलिए वे बचे हैं.लेकिन अगर वे ईमानदारी का दावा करते हैं, न खुद खाऊंगा न खाने दूंगा का नारा बुलंद करते हैं तो उन्हें बताना चाहिए कि उन्होंने छोटे अंबानी से अपनी पुरानी दोस्ती निभाई या एक गुजराती भाई होने के कारण संकट में उसकी मदद करने की कोशिश की या फिर इस सौदे को उन्हें दिलाने के पीछे उनका व्यक्तिगत या फिर पार्टी को होने वाला कोई आर्थिक लाभ है?
बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने भले ही राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए हैरानी जताई हो कि क्या उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय महागठबंधन बना लिया है.या अरूण जेटली यह आशंका जाहिर कर रहे हों कि राहुल को फ्रांस में क्या धमाका होने वाला है, इसकी जानकारी पहले से थी.राजनीति में सब संभव है.लेकिन यह भी ध्यान रखना होगा कि फ्रांस के पूर्व राष्टÑपति ओलांदे वहां के जिम्मेदार राजनेता हैं.मजेदार बात यह है कि इस मामले में मोदी सरकार के मंत्री इतने बोखलाएं हुए हैं कि वे राहुल गांधी पर भाषा की मार्यादा का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुए खुद भी यह मर्यादा लांध रहे हैं.रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण का किया हुआ ट्विट गौरतलब है.सीतारमण ने लिखा, कांग्रेस और राहुल गांधी ने कई झूठ बोले हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया है.हमारी सरकार में कोई भ्रष्टाचार नहीं हुआ.हैरानी नहीं है कि आज हल्ला है- राहुल का पूरा खानदान चोर है.पता नहीं सीतारमण की समझ में अभद्रता के मायने क्या हैं? 
यह ध्यान रखा जाना चाहिए कि शक और संदेह का इलाज तो हकीम लुकमान के पास भी नहीं था.इस मामले में अब दो सरकारों के बीच गोपनीयता उल्लंघन का कोई समझौता अगर अडंगा बन रहा है तो भारतीय जनता इसके सिर्फ बहानेबाजी से ज्यादा कुछ और मानने को तैयार नहीं होगी.इस मामले में दूध का दूध और पानी का पानी सिर्फ सरकार की तथ्यात्मक सफाई ही रख सकती है.और यह सफाई भी मोदी को ही देना होगी.क्योंकि छवि उनकी दांव पर हैं.यदि मोदी की ईमानदारी पर से लोगों का भरोसा उठता है तो फिर लोग कहेंगे ही, मितरों... रफाएल सौदे का सच सामने आना चाहिए कि नहीं? बताओं आना चाहिए कि नहीं आना चाहिए?  


जानिए 2016 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में

1. असम में पुलिस फायरिंग के चलते टूटा हाई वॉल्टेज तार, 11 लोगों की मौत, 20 घायल

2. केंद्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, जांच में मैगी सफल: नेस्ले इंडिया

3. गैर-चांदी आभूषणों पर उत्पाद शुल्क को लेकर जेटली अडिग

4. शंकराचार्य का विवादित बोल- साई पूजा की देन है महाराष्ट्र का सूखा

5. कन्हैया और उमर खालिद समेत 5 छात्र हो सकते है JNU से सस्पेंड

6. करोड़ों लोगों ने देखा प्यार का ये इजहार, आप भी जरूर देखिए

7. महाराष्ट्रः बार-बालाओं पर पैसे लुटाने या उन्हें छूने पर होगी सजा

8. नितिन गडकरी की पीएम मोदी को सलाह, गजलें सुनें, टेंशन फ्री रहें

9. कोल्लम हादसा-मंदिर के पास मिली विस्फोटकों से भरी तीन गाड़ि‍यां

10. शत्रु ने की नीतीश जमकर तारिफ, कहा- 2019 में PM पद के दावेदार

11. पाक अदालत में सबूत के तौर पर पेश हुआ ग्रेनेड फटा, 3 घायल

12. असम-बंगाल में हुई बंपर वोटिंग, CM गोगाई के खिलाफ केस दर्ज


************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स