इंसान का मन सबसे अधिक किस कार्य में लगता है. यह एक ऐसा प्रश्‍न है, जिसमें मतभिन्‍नता की संभावना बहुत अधिक है. एक कार्य ऐसा है, जिसमें मन सबका लगता है, स्‍वीकार कोई नहीं करता है. यह कार्य है शिकायत करना. यह शिकायत किसी की भी हो सकती है. व्‍यक्ति से लेकर संस्‍थान, संगठन या सरकार. ऐसी परिस्थितियां बहुत कम उत्‍पन्‍न होती हैं, जब कोई व्‍यक्ति किसी की शिकायत उसके मुंह पर कर रहा हो. शिकायतें हमेशा पीठ पीछे की जाती है. कई बार तो ऐसा भी देखा जाता है कि वर्षों पुरानी घटनाओं का पिटारा खोलकर लोग शिकायतों का पुलिंदा लेकर बैठ जाते हैं. 
हम शिकायत करने में कितना समय व्‍यतीत करते हैं, हमें इसका अंदाजा नहीं होता है. कभी ध्‍यान देकर देखिए तब आपको पता चलेगा कि आपका कितना बहुमूल्‍य समय इस कार्य में व्‍यर्थ जाता है. हम सभी के पास शिकायतों का एक बहुत बड़ा पिटारा होता है. कई बार तो हम ऐसे लोगों की शिकायत में अपना समय बर्बाद करते हैं, जिनका हमारे जीवन में कोई औचित्‍य ही नहीं है. 
हमारे-आपके सबके जीवन में शिकायत करना एक आदत बन चुकी है. हो सकता है कि कुछ लोग अपवाद भी हों, जो कभी किसी की शिकायत न करते हों. शिकायत करने से किसी को कुछ हासिल नहीं होता है. इस कार्य में सिर्फ आपका समय बर्बाद होता है. शिकायत करना हमारे प्‍लायनवादी रूख का परिचायक होता है. इससे यह पता चलता है कि हम समस्‍या का सामना करने के बजाए उसे शिकायत में तब्‍दील कर देते हैं. हम सभी इस बात को समझते हैं कि शिकायत करने से स्थिति नहीं बदलती, इससे सिर्फ यह समझ में आता है कि आप जो कुछ भी कर रहे हैं अथवा कह रहे हैं, उससे आप खुश नहीं हैं. शिकायतों से कभी समाधान नहीं मिलता. शिकायत करने वाले कभी समाधान खोजने का प्रयास नहीं करते हैं. 
शिकायत करने वाले लोग सच्‍चाई का सामना करने से डरते हैं. वे अपने भविष्‍य के मार्ग को न सिर्फ अवरूद्ध कर लेते हैं बल्कि अपने चाहने वाले मित्रों की संख्‍या भी घटाते जाते हैं. किसी भी शिकायत करने वाले व्‍यक्ति को आज तक किसी भी प्रकार का लाभ नहीं हुआ है. जब हम शिकायत के मूल में जाते हैं तब हमें पता चलता है कि हमारी शिकायत की वजह यह है कि जैसा हमने सोचा था, वैसा नहीं हुआ. यह किसी के द्वारा किए गए कार्य, किसी व्‍यक्ति विशेष के स्‍वभाव, सब पर लागू होता है. यह साश्‍वत सत्‍य है कि किसी भी शिकायत का समाधान करने कोई बाहरी व्‍यक्ति नहीं आएगा. हमें खुद ही उसका समाधान तलाशना होगा. 
कुछ शिकायतें जायज होती हैं तो कुछ बेसिर पैर की. जायज शिकायतों का हमेशा समाधान निकलता है मगर फिजूल की शिकायतों का समाधान होता ही नहीं है. 


जानिए 2020 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स