गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद हुए सर्वेक्षणों के आधार पर अब यह पूरी तरह से सुनिश्चित लगने लगा है कि दोनों राज्यों में भाजपा की सरकार बनने जा रही है. सीटों की संख्या क्या होगी, इस बारे में अभी कह पाना फिलहाल जल्दबाजी ही होगी, लेकिन वातावरण जिस प्रकार की हवा को प्रवाहित करता हुआ दिखाई दे रहा है, उससे तो यही लगता है कि गुजरात और हिमाचल में जनता ने एक बार फिर से मोदी के नाम पर मुहर लगा दी है. गुजरात और हिमाचल में कांगे्रस को जिस प्रदर्शन की उम्मीद थी, वैसा होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा. जहां तक गुजरात के चुनाव की बात है तो सर्वेक्षण यही दिखा रहे हैं कि देश में नरेन्द्र मोदी का कोई मुकाबला ही नहीं है. इस चुनाव में कांगे्रस की ओर से एक खास परिवर्तन यह किया गया कि अबकी बार राहुल गांधी से पप्पू की उपाधि समाप्त करवा दी, इसके अलावा कांगे्रस ने राहुल को परिपक्व राजनेता की श्रेणी में खड़ा करने की भरपूर कवायद भी की थी. अब परिणामों की प्रतीक्षा करनी है, क्योंकि वही यह बताने में सक्षम होंगे कि कौन कितने पानी में है. अगर कांगे्रस जीतती है तो राहुल गांधी जिन्दाबाद, और हारती हे तो फिर ईवीएम पर ठीकरा फोड़ा जाएगा. जिसकी तैयारी कांगे्रस ने कर दी है.
इस चुनाव की खास बात यह थी कि कांगे्रस ने कई ऐसे प्रयास भी किए, जिसका कांगे्रस की राजनीति से दूर दूर तक कोई वास्ता नहीं रहा. मतदाताओं को रिझाने के लिए कांगे्रस के प्रयास फिलहाल तो निरर्थक ही दिखाई दे रहे हैं. इतना ही नहीं जिन्होंने अपनी राजनीति की शुरुआत ही की थी, आज उनकी भविष्य की राजनीति पर भी बहुत बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है. यह सत्य है कि हार्दिक, जिग्नेश और अल्पेश ने अपना जो प्रभाव छोड़ा, उससे ऐसा तो लब रहा था कि गुजरात में इन तीन युवाओं का राजनीतिक भविष्य बहुत ही उज्जवल है. पर कहा जाता है कि जिस प्रकार से डूबते जहाज की सवारी करने से अच्छे लोग भी डूब जाते हैं, वैसे ही संभावना इस बात की भी बलबती होती दिखाई दे रही है कि कांगे्रस इनकी भविष्य की संभावनाओं को समाप्त कर देगी. हम जानते हैं कि कांगे्रस ने गुजरात में गठबंधन करने की बहुत बेचैनी दिखाई थी, यह बेचैनी गुजरात में बहुत बड़े संशय का कारण बनी. कांगे्रस द्वारा लीक से हटकर प्रयास करने के बाद भी सर्वेक्षणों में सरकार नहीं बनने से कांगे्रस को तो झटका लगेगा ही, साथ ही हाल ही में कांगे्रस अध्यक्ष बनने वाले राहुल गांधी के लिए भी अच्छा नहीं कहा जाएगा.
यह बात सही है कि कांगे्रस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस चुनाव में अपने आपको हिन्दू हितैषी दिखाने का भरपूर प्रयास किया. वे मंदिर भी गए. कांगे्रस के इस कदम से हिन्दू तो आकर्षित नहीं हुए, बल्कि मुसलमान वर्ग कांग्रेस से नाराज हो गया. अगर कांगे्रस बुरी तरह से पराजित होती है तो यही सबसे बड़ा कारण माना जा सकता है. अपने पूरे प्रचार के दौरान राहुल गांधी गुजरात के लगभग हर मंदिर में मत्था टेका. प्रचार के अंतिम दिन भी वह गुजरात के प्रमुख जगन्नाथ मंदिर के दर्शन किए. वहीं दूसरी तरफ भाजपा की कमान संभालने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सी-प्लेन से अंबाजी मंदिर पहुंचे.
गुजरात चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कांगे्रस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान बार-बार मुद्दा बनते रहे. सबसे बड़ा मुद्दा तो यही बना कि जब राहुल गांधी अपने आपको मंदिरों में ले जा रहे हैं तो उन्होंने सोमनाथ में गैर हिन्दू वाले रजिस्टर पर हस्ताक्षर क्यों किए. गैर हिन्दू पंजी में हस्ताक्षर करने वाले राहुल गांधी ने स्वयं ही अपने हिन्दू नहीं होने का प्रमाण दे दिया. फिर भी कांगे्रस की ओर से राहुल गांधी को जबरदस्ती जनेऊ धारी हिन्दू बताने का प्रयास किया गया.
इस पूरे प्रचार में कभी राहुल गांधी के धर्म को लेकर तो कभी उनके मंदिर जाने को लेकर भी खूब सवाल उठाए गए. वहीं कांग्रेस की तरफ से विकास पागल हो गया का जुमला भी सुनाई दिया. यहां तक की प्रचार खत्म होने से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को नीच कह दिया गया, जिसने प्रचार को नई गरमाहट और मुद्दा तक दे डाला. इनके अलावा भाजपा की तरफ से चुनाव में पाकिस्तान का मुद्दा भी सुनाई दिया. हालांकि पाकिस्तान ने भी गुजरात चुनाव में खुद को घसीटने जाने पर आपत्ति जताई. इसके बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पाकिस्तान को नसीहत दी कि वह भारतीयों के बारे में लोकतंत्र की सीख न दे.
 


जानिए 2016 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में

1. असम में पुलिस फायरिंग के चलते टूटा हाई वॉल्टेज तार, 11 लोगों की मौत, 20 घायल

2. केंद्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, जांच में मैगी सफल: नेस्ले इंडिया

3. गैर-चांदी आभूषणों पर उत्पाद शुल्क को लेकर जेटली अडिग

4. शंकराचार्य का विवादित बोल- साई पूजा की देन है महाराष्ट्र का सूखा

5. कन्हैया और उमर खालिद समेत 5 छात्र हो सकते है JNU से सस्पेंड

6. करोड़ों लोगों ने देखा प्यार का ये इजहार, आप भी जरूर देखिए

7. महाराष्ट्रः बार-बालाओं पर पैसे लुटाने या उन्हें छूने पर होगी सजा

8. नितिन गडकरी की पीएम मोदी को सलाह, गजलें सुनें, टेंशन फ्री रहें

9. कोल्लम हादसा-मंदिर के पास मिली विस्फोटकों से भरी तीन गाड़ि‍यां

10. शत्रु ने की नीतीश जमकर तारिफ, कहा- 2019 में PM पद के दावेदार

11. पाक अदालत में सबूत के तौर पर पेश हुआ ग्रेनेड फटा, 3 घायल

12. असम-बंगाल में हुई बंपर वोटिंग, CM गोगाई के खिलाफ केस दर्ज


************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स