आज का दिनः 31 दिसंबर 2021, शुक्रवार प्रदोष व्रत से सौभाग्य की वृद्धि होती है...

आज का दिनः 31 दिसंबर 2021, शुक्रवार प्रदोष व्रत से सौभाग्य की वृद्धि होती है...

प्रेषित समय :20:38:32 PM / Thu, Dec 30th, 2021

-प्रदीप लक्ष्मीनारायण द्विवेदी
* शिवकृपा प्राप्त करने के लिए हर महीने के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी पर प्रदोष व्रत किया जाता है. 
* भोलेनाथ जब प्रसन्न होते हैं तो समस्त दोष समाप्त कर परम प्रसन्नता, परम सुख प्रदान करते हैं! 
* प्रदोष व्रत-पूजा बहुत ही सरल है क्योंकि भोलेनाथ एकमात्र देव हैं जो पवित्र मन से की गई पूजा से ही प्रसन्न हो जाते हैं. 
* शिवोपासना में दुर्लभ मंत्र और कीमती पूजा सामग्री की जरूरत नहीं है, सच्चे मन से... नमः: शिवाय का जाप करें और शिवलिंग पर सर्वसुलभ पवित्र जल चढ़ाएं.  
* सुख का अहसास कराता है- शांत मन और दुख का कारण है- अशांत मन, शिवोपासना से तुरंत मानसिक शांति प्राप्त होती है.
* प्रदोष व्रत में दिनभर निराहार रहकर सायंकाल पवित्र स्नान करने के बाद श्वेत वस्त्रों में शांत मन से भगवान शिव का पूजन किया जाता है. 
* जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, प्रदोष व्रत को करने से हर प्रकार के दोष मिट जाते हंै. 
* इस व्रत के प्रमुख देवता शिव हैं इसलिए उनके साथ-साथ शिव परिवार की आराधना विशेष फलदायी मानी जाती है.
* विभिन्न दिनों के प्रदोष व्रत का अलग-अलग महत्व और प्रभाव होता हैै....
* शुक्रवार प्रदोष व्रत से सौभाग्य की वृद्धि होती है.
* शनिवार प्रदोष व्रत से संतान सुख की प्राप्ति होती है.
* रविवार के दिन प्रदोष व्रत हमेशा स्वस्थ रखता है.
* सोमवार के दिन प्रदोष व्रत करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.
* मंगलवार को प्रदोष व्रत रखने से ऋण-रोग से मुक्ति मिलती है.
* बुधवार के दिन यह व्रत करने सर्व कामना सिद्धि होती है.
* बृहस्पतिवार के प्रदोष व्रत से शत्रुओं का नाश होता है.

-आज का राशिफल -
मेष राशि:- आज दिनचर्या अच्छी रहेगी. धन का लाभ होगा. कोई रूका हुआ कार्य पूरा हो सकता है. आर्थिक लाभ तथा प्रवास का योग है. विचारों में उग्रता व अधिकार की भावना बढे़गी. आज लोग आपके कार्य की प्रशंसा करेंगे.

वृष राशि:- आज का दिन अच्छा रहेगा. लेकिन स्वभाव में चिड़चिड़ापन हो सकता है. जिसके कारण सगे-सम्बन्धियों से मानसिक मनमुटाव संभव है. शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहेगा और सारा दिन आनंद व उल्लास में बितेगा. आपके सभी कार्य योजनानुसार संपन्न होंगे. धन लाभ की संभावना है.

मिथुन राशि:- आज शारीरिक और मानसिक रूप से परेशान हो सकते हैं. नया काम शुरु करने की योजना तो बनेगी. संतान सम्बंधी कार्यों के पीछे व्यय होगा. प्रणय सूत्रों के अवरोध धीरे-धीरे कम होंगे. स्वास्थ्य के लिहाज से यह समय कुछ मध्यम रहने की आशंका है.

कर्क राशि:- आपका दिन आज अशुभ है. आज आपमें आनंद एवं स्फूर्ति की कमी रहेगी व मन अशांत रहेगा. घर में झगडा हो सकता है. स्वजनों से मनमुटाव होने भी हो सकता है. पूंजी निवेश व दूरस्थ व्यापार में वैधानिक पहलुओं की अनदेखी हानि का कारण हो सकती है. बच्चों को गुड़ व तिल की रेवड़ियां बांटे. धन का व्यय बढ़ेगा व समयानुसार भोजन उपलब्ध नहीं होगा.

सिंह राशि:- आपका आज का दिन शुभफलदायी है . स्वास्थ्य अच्छा रहेगा व भाई-बंधुओं के साथ समय बीतेगा. पूंजी निवेश व विदेश संदर्भ में कानूनी अड़चने हल करने में कामयाब रहेंगे. मातृ व पितृ पक्ष से तनाव की आशंका है, अनुचित व कटु शब्दों के प्रयोग से बचें. मित्रों और स्वजनों से भेंट होने के योग हैं.

कन्या राशि:- आज का दिन आपके लिए शुभ रहेगा. धन लाभ होगा. किसी कीमती वस्तु की खरीददारी हो सकती है. घरेलू समस्याओं का निराकरण होगा. मन प्रसन्न रहेगा. आपके कार्य सिद्ध होंगे. परिवार में आनंद का वातावरण रहेगा औऱ आर्थिक लाभ हो सकता है. घूमने की योजना बन सकती है.

तुला राशि:- आज का दिन आपके लिए शुभफलदायी रहेगा. धन का लाभ होगा. किसी नये कार्य की शुरूआत हो सकती है. पराक्रम में वृद्धि होगी. परिजनों का सहयोग प्राप्त होगा. कोई उल्लेखनीय सफलता प्राप्त होगी. आज आपकी रचनात्मक और कलात्मक क्षमता में सुधार होगा. आज अपने शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल रखें.

वृश्चिक राशि:- आज  कोई रूका हुआ कार्य पूरा होगा. मित्रों से सहयोग प्राप्त होगा. राजकाज में सफलता मिलेगी. मुकदमे में विजय के प्रबल योग हैं. काफी दिनों से चली आ रही किसी समस्या का समाधान होगा. आनंद-प्रमोद में खर्च बढ़ने की संभावना है. स्वजनों से कलह हो सकता है.

धनु राशि:- आज के दिन संतान पक्ष से आज मन खुश रहेगा और किसी शुभ समाचार की प्राप्ति भी सम्भव है. अध्ययन अध्यापन के कार्यों में रूचि बढ़ेगी तथा धार्मिक कृत्यों से भी मन शांत होगा. आप गृहस्थ जीवन का संपूर्ण आनंद लेंगे. मित्रों के साथ सुंदर स्थल पर घुमने जा सकते हैं.

मकर राशि:- आज आप का दिन संघर्षपूर्ण बितेगा. पूंजी निवेश व विदेश संदर्भों में लाभ सर्तकता से ही प्राप्त होगा. स्थानीय यात्रा में सावधानी अपेक्षित रहेगी. पक्षियों को दाना डालें. आग, पानी या वाहन संबंधित दुर्घटना से दूर रहें. व्यापार हेतु यात्रा से लाभ होगा और उच्च अधिकारी प्रसन्न रहेंगे. संतान की पढ़ाई के संबंध में कोई खुशखबरी मिल सकती है.

कुम्भ राशि:- आज आपका दिन मिश्रित रहेगा . आप का स्वास्थ्य खराब रह सकता है. मानसिक शांति रहेगी और कार्य करने का उत्साह कम होगा. माता-पिता आपकी तरक्की से प्रसन्न रहेंगे. स्थानीय यात्रा व तैराकी संदर्भों में सावधानी बनाएं रखें. बंदरों को गुड़ व चने खिलाएं. प्रवास एवं पर्यटन के योग बन रहे हैं.

मीन राशि:- आज आपका दिन मध्यम फलदायी होगा. दूरस्थ व ग्रामीण क्षेत्रों की यात्रा के योग रहेंगे. यह समय अनावश्यक व्यय से बचने व सेहत को संवारने का है. बंदरों को भीगे हुए चने व गुड़ खिलाएं. अधिक परिश्रम लगने वाले कार्यों को अभी टाल दें. मानसिक, शारीरिक परिश्रम अधिक करना होगा. अचानक से धनलाभ के योग बन रहे हैं.

* आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) वाट्सएप नम्बर 9131366453   

* यहां राशिफल चन्द्र के गोचर पर आधारित है, व्यक्तिगत जन्म के ग्रह और अन्य ग्रहों के गोचर के कारण शुभाशुभ परिणामों में कमी-वृद्धि संभव है, इसलिए अच्छे समय का सद्उपयोग करें और खराब समय में सतर्क रहें.

- शुक्रवार का चौघडिय़ा -

दिन का चौघडिय़ा      रात्रि का चौघडिय़ा
पहला- चर                   पहला- रोग
दूसरा- लाभ                 दूसरा- काल
तीसरा- अमृत             तीसरा- लाभ
चौथा- काल               चौथा- उद्वेग
पांचवां- शुभ               पांचवां- शुभ
छठा- रोग                  छठा- अमृत
सातवां- उद्वेग           सातवां- चर
आठवां- चर               आठवां- रोग

* चौघडिय़ा का उपयोग कोई नया कार्य शुरू करने के लिए शुभ समय देखने के लिए किया जाता है 
* दिन का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.
* रात का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्यास्त से अगले दिन सूर्योदय के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.
* अमृत, शुभ, लाभ और चर, इन चार चौघडिय़ाओं को अच्छा माना जाता है और शेष तीन चौघडिय़ाओं- रोग, काल और उद्वेग, को उपयुक्त नहीं माना जाता है.
* यहां दी जा रही जानकारियां संदर्भ हेतु हैं, स्थानीय पंरपराओं और धर्मगुरु-ज्योतिर्विद् के निर्देशानुसार इनका उपयोग कर सकते हैं.
* अपने ज्ञान के प्रदर्शन एवं दूसरे के ज्ञान की परीक्षा में समय व्यर्थ न गंवाएं क्योंकि ज्ञान अनंत है और जीवन का अंत है!

पंचांग 
शुक्रवार, 31 दिसंबर, 2021
प्रदोष व्रत
शक सम्वत1943   प्लव
विक्रम सम्वत2078
काली सम्वत5122
प्रविष्टे / गत्ते16
मास तपौष
दिन काल10:20:53
तिथिद्वादशी - 10:42:03 तक
नक्षत्रअनुराधा - 22:04:40 तक
करणतैतिल - 10:42:03 तक, गर - 21:02:54 तक
पक्ष कृष्ण
योगशूल - 17:58:35 तक
सूर्योदय07:13:29
सूर्यास्त17:34:22
चन्द्र राशिवृश्चिक
चन्द्रोदय29:32:00
चन्द्रास्त15:07:00
ऋतु शिशिर
अभिजित मुहूर्त 11:52 ए एम से 12:35 पी एम
अग्निवास पाताल - 10:39 ए एम तक,पृथ्वी
दिशा शूल पश्चिम
नक्षत्र शूल पूर्व - 10:04 पी एम से पूर्ण रात्रि तक
चन्द्र वास उत्तर
राहु वास दक्षिण-पूर्व

कर्पूरगौरं करुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारम्।

सदावसन्तं हृदयारविन्दे भवं भवानीसहितं नमामि।।

भावार्थ...  https://www.youtube.com/watch?v=G4Hk3q5VVbw

Source : palpalindia ये भी पढ़ें :-

गीता जयंती और मोक्षदा एकादशी पर जानिए महत्व, पूजा विधि एवं पूजन के शुभ मुहूर्त

शुभ कार्यों में नवग्रहों का पूजन क्यों ?

देहरी पूजन की विधि

तुलसी विवाह एवं शालिग्राम पूजन

दीपावली: अमावस और स्थिर लग्न मे पूजन कर महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त करें

Leave a Reply