मुंबई में बड़ा हादसा : बिल्डिंग गिरी, 10 की मौत, मलबे में 8 लोगों के दबे होने की आशंका

मुंबई में बड़ा हादसा : बिल्डिंग गिरी, 10 की मौत, मलबे में 8 लोगों के दबे होने की आशंका

प्रेषित समय :16:30:54 PM / Tue, Jun 28th, 2022

मुंबई. मुंबई के कुर्ला पूर्व के नाइक नगर में सोमवार देर रात एक चार मंजिला इमारत ढह गई. हादसे में 10 की मौत हो गई. इनमें से एक की मौके पर, जबकि 9 लोगों की इलाज के दौरान मौत हुई है.

बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने बताया कि 9 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है. दमकल विभाग के अनुसार, इमारत के मलबे के नीचे 7-8 लोग फंसे हुए हैं. पुलिस को आशंका है कि अभी और भी लोग हो सकते हैं.

एनडीआरएफ, बीएमसी और मुबंई पुलिस की टीम राहत और बचाव कार्य में जुटी है. बीएमसी की अतिरिक्त आयुक्त अश्विनी भिड़े ने बताया कि इमारत जर्जर हो चुकी थी. 2013 से पहले मरम्मत और फिर इमारत को गिराने के लिए नोटिस दिए गए थे.

बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने बताया कि हमने इमारत को सी 1 श्रेणी में रखा था यानी बिल्डिंग में रहने लायक नही है, लेकिन कुछ अधिकृत लोगों ने सी 1 में रखे जाने का विरोध किया. उन्होंने आर्किटेक्चर से खुद स्ट्रक्चर ऑडिट कराया. उनकी रिपोर्ट में बिल्डिंग को सी 2 की श्रेणी घोषित किया गया यानी इमारत को रिपेयरिंग कर उसमें रहा जा सकता है. अब तक जो जानकारी मिल रही है, उसके मुताबिक अभी भी कई लोग फंसे हुए हैं. कुछ लोगों के जिंदा होने की संभावना है. उन्हें बचाने की पूरी कोशिश हो रही है.

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री सुभाष देसाई ने मृतक के परिवार को 5 लाख रुपए आर्थिक सहायता और घायलों का फ्री इलाज करने की बात कही है. उन्होंने कहा कि जांच की जाएगी, जो भी जिम्मेदार हुए उनके खिलाफ कार्रवाई होगी. ऐसा दोबारा न हो, इसके लिए मीटिंग बुलाई गई है. इससे पहले, एकनाथ शिंदे ने मृतक के परिवार को 5 लाख और घायलों को एक-एक लाख रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया था.

आदित्य ठाकरे बोले, सभी को बचाना हमारी प्राथमिकता

महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे मौके पर पहुंचे. उन्होंने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है. 4 इमारतों को नोटिस जारी किया गया था, लेकिन लोग फिर भी रह रहे थे. सभी को बचाना हमारी प्राथमिकता है. आसपास की दूसरी इमारतों को खाली कराने और गिराने का काम किया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि जब भी बीएमसी नोटिस जारी करे, इमारतें खुद खाली कर दी जानी चाहिए. अन्यथा, ऐसी घटनाएं होती हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण है. अब इस पर कार्रवाई करना महत्वपूर्ण है.

Source : palpalindia ये भी पढ़ें :-

रणजी ट्राफी: मध्य प्रदेश की टीम पहली बार बनी चैंपियन, फाइनल में मुंबई को दी मात

संजय राउत का ऐलान: बोले-शिवसेना एमवीए से निकलने को तैयार, बस मुंबई आकर सीएम से बात करें शिंदे

फिर सामने आया 34615 बैंक फ्रॉड का मामला, सीबीआई ने मुंबई में 12 स्थानों पर की छापेमारी

Leave a Reply