जबलपुर : 14 साल की छात्रा से गैंगरेप, प्रेमी ने शादी का झांसा देकर बुलाया, रेप के बाद 4 दोस्तों के हवाले किया

जबलपुर : 14 साल की छात्रा से गैंगरेप, प्रेमी ने शादी का झांसा देकर बुलाया, रेप के बाद 4 दोस्तों के हवाले किया

प्रेषित समय :15:42:50 PM / Fri, Sep 10th, 2021

जबलपुर. एमपी के जबलपुर में 14 साल की 10वीं की छात्रा के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है. इस मामले में उसका प्रेमी भी शामिल है, जो उसे शादी के बहाने बुलाया था. मां और पिता के साथ पहुंची पुलिस ने एक घर से मुक्त कराया. चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. मुख्य आरोपी प्रेमी अभी फरार है. छात्रा दूसरी बार गैंगरेप की शिकार बनी है. इससे पहले प्रेमी ने नौ महीने पहले अपहरण करके गैंगरेप किया गया था. इसके छह दिन बाद प्रेमी घर से बहला-फुसला कर ले गया था. छात्रा के साथ उमरिया में ट्रक ड्राइवर, ढाबा संचालक सहित 9 लोग गैंगरेप कर चुके हैं. उमरिया के कोतवाली में दोनों मामलों में एफआईआर दर्ज की थी.

गोराबाजार पुलिस के मुताबिक छात्रा गौर क्षेत्र में रहती है. पिता आबकारी विभाग में हैं. छात्रा का ननिहाल उमरिया में है. उमरिया निवासी सागर मिश्रा (22) ने छात्रा को प्यार के झांसे में फंसा लिया. 8 सितंबर को सागर ने छात्रा के पास कॉल कर बताया था कि वह गुरुवार को जबलपुर आ रहा है. झांसा दिया था कि वह उससे शादी करेगा. गुरुवार सुबह 11 बजे के लगभग सागर जबलपुर पहुंचा. छात्रा को फोन कर प्रगति नगर मकान नंबर 10 में बुलाया था.

छात्रा को बताया था कि कजरवारा चौराहे पर उसके दोस्त ऑटो से मिलेंगे. लगभग 11.30 बजे छात्रा की मां नहाने गई. उसी दौरान वह मां का मोबाइल लेकर निकल गई. कजरवारा तिराहे पर ऑटो के साथ तिलहरी निवासी अमजद (29) दोस्त सदर गली नंबर 10 निवासी साहिल खान (22) के साथ मिले. दोनों के साथ वह ऑटो में बैठकर गोराबाजार क्षेत्र के प्रगति नगर पहुंची. वहां सागर के साथ पहले से तिलहरी गोराबाजार निवासी निकलेश उर्फ निक्की विलियम्स (35), तिलहरी निवासी एवं सब्जी बेचने वाला दीपक उर्फ दीप्पू अहिरवार (26) मौजूद थे.

शादी का झांसा देकर उमरिया ले चलने को बोला

सागर छात्रा को लेकर मकान के पहली मंजिल पर चला गया. उसके चारों दोस्त नीचे ही बैठे रहे. वहां सागर ने छात्रा से बोला कि शादी करने उसे उमरिया चलना होगा. इसके लिए उसने गुप्ता ट्रेवल्स से कार बुक कराया. कार में डीजल डलवाने के 1500 रुपए छात्रा को देने के लिए बोला. छात्रा ने मां को फोन किया कि कार से वह नानी के घर उमरिया जा रही है. डीजल डलवाने के पैसे दे दो. मां ने उसे पैसे देने से मना कर दिया.

पहले प्रेमी ने किया रेप, फिर दोस्तों ने किया गैंगरेप

छात्रा के मुताबिक शाम 5.30 बजे के लगभग उसका प्रेमी सागर उसे ऊपर के कमरे में ले गया. वहां शादी का झांसा देकर उसके साथ रेप किया. फिर उसे नीचे मौजूद दोस्तों के हवाले सौंप कर ये कहते हुए निकल गया कि इसे घर छोड़ देना. चारों आरोपियों ने अंधेरा होने का हवाला देते हुए सुबह जाने की बात कही. रात में चारों ने छात्रा के साथ गैंगरेप किया. कुछ देर बाद अमजद ऑटो लेकर चला गया. दीपक, निकलेश व साहिल छात्रा के साथ मकान में रुक गए थे.

पुलिस के साथ मां ने घटनास्थल पहुुंच कर बेटी को मुक्त कराया

उधर, बेटी को देर रात तक घर नहीं लौटने पर उसकी मां व पिता तलाशते हुए गोराबाजार पहुंचे. पुलिस छात्रा के टावर लोकेशन के आधार पर प्रगति नगर उस मकान पर पहुंची, जहां छात्रा के साथ तीनों आरोपी मौजूद थे. पुलिस ने छात्रा को आरोपियों के चंगुल से मुक्त कराया. छात्रा के बयान के आधार पर पुलिस ने तीनों आरोपियों को दबोच लिया. इसके बाद तिलहरी में दबिश देकर अमजल को भी दबोच लिया. मुख्य आरोपी सागर को भी दबोचने एक पुलिस उमरिया रवाना हो गई है. गोराबाजार पुलिस ने गैंगरेप, पॉक्सो एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर लिया है. पुलिस के मुताबिक साहिल, निकलेश व अमजद ऑटो चलाते हैं. जबकि दीपक सब्जी का ठेला लगाता है.

आठ महीने पहले भी हुई थी दरिंदगी की शिकार

छात्रा से इससे पहले जनवरी 2021 में उमरिया दो बार अपहरण कर नौ लोगों ने गैंगरेप किया था. उमरिया के कोतवाली थाने में 14 जनवरी को ये प्रकरण दर्ज हुआ था. आरोपियों में कुछ ट्रक ड्राइवर और ढाबा संचालक भी थे. छात्रा को 4 जनवरी को एक युवक मार्केट से अपहरण करके ले गया था. उसे जंगल में ले जाकर 6 लोगों ने गैंगरेप किया. 5 जनवरी को उसे छोड़ दिया गया. 11 जनवरी को छात्रा को फिर उसका प्रेमी ले गया. सागर उसके तीन ढाबा संचालक सहित दोस्तों और दो ट्रक ड्राइवरों ने 12 जनवरी तक गैंगरेप किया. आरोपियों के चंगुल से छूटकर घर पहुंची छात्रा के बयान के आधार पर उमरिया की कोतवाली पुलिस ने गैंगरेप व पॉक्सो एक्ट सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया था.

Source : palpalindia ये भी पढ़ें :-

एमपी में कोरोना के बाद वायरल फीवर का कहर, भोपाल में 355 तो जबलपुर में मरीजों का आंकड़ा 500 के पार

जबलपुर के कृषि वैज्ञानिक डॉ. आकाश पारे को तमिलनाडु सरकार ने राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदा दी

जबलपुर के कृषि वैज्ञानिक डॉ. आकाश पारे को तमिलनाडु सरकार ने राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदा दी

Leave a Reply