समग्र

सिलेब्रिटी आमिर खान का है विवादों से गहरा नाता

56 वर्षीय फिल्म अभिनेता आमिर खान ने 2002 में अपनी पहली पत्नी रीना दत्त के बाद 2021 में अपनी दूसरी पत्नी किरण राव को भी तलाक दे दिया है। तलाक दोनों की सहमति से हुआ है इसलिए इस पर किसी को ‘नुक्ताचीनी’ नहीं करना चाहिए। आमिर खान कोई पहले ऐसे शख्स भी नहीं हैं जिन्होंने अपनी पत्नी को तलाक दिया हो। 135 करोड़ की आबादी वाले देश में तलाक जैसी समाजिक बुराई जगह-जगह जन्म लेती रहती है। अगर कोई नई बात है तो वह यह है कि संभवता पहली बार ऐसा तलाक हुआ है जिसमें पति-पत्नी में से कोई अपने संबंधों को लेकर दुखी या परेशान भी नहीं था और साथ रह भी नहीं सकता था। यहां तक की तलाक पेपर पर हस्ताक्षर करते समय तक इनके बीच कोई मतभेद या रिश्तों में ‘दरार’ जैसी बात सामने नहीं आई। यह हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि स्वयं इस जोड़े ने तलाक के बाद कही है.     एक संयुक्त बयान में आमिर-किरण राव ने कहा कि वह दोनों अब अपनी जिंदगी को पति-पत्नी के बजाए अलग-अलग जिएगें।वे बतौर माता-पिता बच्चे की परवरिश मिलकर करेंगे तो कारोबारी रिश्ते भी बने रहेंगे। इसमें कितनी हकीकत है कितना फंसाना यह तो आमिर और किरण राव को बेहतर पता होगा,लेकिन देश की जनता इतनी भी मूर्ख नहीं है कि वह आंख मूंद कर इस पर यकीन कर लेगीं असलियत तो यही है कि दोनों ही झूठ बोल रहे हैं। ऐसा इस लिए किया जा रहा है ताकि दोनों के व्यवसायिक हित बेदाग और सुरक्षित रहें। तलाक के बाद बच्चों की परवरिश मिलकर किए जाने की बात तो एक बहाना है।यदि दोनों को बच्चों की ही इतनी चिंता होती तो तलाक की नौबत ही नहीं आती। ऐसे तमाम मामले अक्सर सामने आते रहते हैं जिसमें पति-पत्नी में बिल्कुल भी नहीं बनती है,लेकिन बच्चों की खातिर दोनों एक छत के नीचे रहने को तैयार हो जाते हैं। इसके अलावा हिन्दुस्तान में तलाक के आंकड़े एकत्र किए जाएं तो यह भी खुलासा हो जाएगा कि अपने देश में किसी 56 वर्ष की उम्र में तलाक के मामले नहीं के बराबर होते हैं.      सेलिब्रिटी आमिर खान द्वारा तलाक को चाहें जितने खूबसूरत शब्दों में पिरो दिया जाए, लेकिन इससे तलाक की बुराई कम नहीं हो जाती है। इसी लिए आमिर खान सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं तो फैंस तलाक के कारणों को जानने को बेताब हैं। आमिर के फेंस के लिए किरण राव से उनका तलाक चौंकाने वाली बात है। ऐसे में कई ट्रोल्स अब फामिना सना शेख को ट्रोल  कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर अटकलें हैं कि आमिर खान और फातिमा सना शेख ने फिल्म दंगल में एक साथ काम किया था। यह फातिमा की डब्यू फिल्म थी। एक यूजर ने आमिर और फातिमा की फोटो पोस्ट पर लिखा ‘आमिर और फातिमा को एडवांस में बधाई। उम्मीद  है कि यह जोड़ी लंबी चलेगी।‘ इनके लिंकअप की अपवाहें पहले भी सामने आ चुकी हैं। हालांकि  जवाब में फातिमा ने कहा था कि इन बातों को नजरअंदाज करना सीख लिया.      किरण राव से आमिर ने साल 2005 में शादी की थी। मगर यह आमिर की पहली शादी नहीं थी। आमिर इससे पहले रीना दत्ता के साथ शादी के बंधन में बंधे थे। रीना ने आमिर की फिल्म कयामत तक में छोटा से रोल अदा किया था।आमिर और रीना के दो बच्चे जुनैद  और आइरा खान हैं। हालांकि दिसंबर 2002 में आमिर और रीना ने अलग होने का फैसला लिया था।आमिर-किरण के तलाक के बाद कुछ लोग आमिर को तो कुछ किरण को गलत ठहरा रहे हैं,लेकिन आमिर और किरण को गलत ठहराने वाले एक मत से यह जरूर कह रहे हैं कि सेलिब्रिटी के तलाक का सबसे बुरा असर इनके बच्चों पर होगा। कुछ लोगों को इस बात का भी दुख है कि बात तलाक तक पहुंच गई,लेकिन दोनों परिवार की तरफ से किसी भी रिश्तेदार ने यह रिश्ता बचाने की कोशिश नहीं की।ट्रोल करने वाले कह रहे है कि  आमिर की फूफियों और खालाओं ने उन्हें (आमिर खान का)े क्यों नही समझाया कि बेटा किसी तरह निबाह कर लो,हमारा इज्जतदार घराना है। यहां जान चली जाए गमर पर दाग नहीं लगने दिया गया है। घर के किसी बड़े-बुजुर्ग ने आमिर को यह क्यों नहीं समझाया कि बेटा,कुछ नही ंतो बच्चों के बारे में तो सोच लो। तुम्हारा क्या है आधी जिंदगी कट गई है। बाी आधी भी कट जाएगी। किसी मौलाना या इस्लामिक स्कॉलर ने आमिर को नहीं बताया कि इस्लाम में तलाक को सबसे बड़ा गुनाह करार दिया है।इस्लाम में तलाक को तब तक गैर-जरूरी बताया गया,जब तक सुलाह का कोई और रास्ता नहीं बचा हो।            खैर, किरण राव से तलाक के इत्तर बात की जाए तो आमिर खान का विवादों से पुराना नाता रहा है। लड़कियों के बार में भी वह दिल फेंक हैं। इसी के चलते धीरे-धीरे आमिर अपनी एक अगल निगेटिव छवि बनाते नजर आ रहे हैं।वो कोई अवॉर्ड फंक्शन हों, देश में चल रही राजनीति या फिर देश के विरोधियों के साथ नजदीकी किसी ना किसी बहाने आमिर विवादों से नाता जोड़ लेते हैं। आमिर चुपचाप टर्की (जिसके साथ भारत के संबंध अच्छे नहीं हैं) के राष्ट्रपति की पत्नी से मिलने पर भी विवादों में आ चुके है।टर्की के राष्ट्रपति की पत्नी एमीन एर्दवा ने ट्वीट करके मुलाकात की जानकारी नहीं दी होती तो यह बात गुप्त ही रहती।       इसी प्रकार से वर्ष 2015 यानी छहः वर्ष पूर्व आमिर खान असिष्णुता के मुद्दे पर बयान देकर सबसे बड़ा विवाद से घिरे थे।तब आमिर ने ये कह दिया था कि उनकी पत्नी को भारत में रहने में डर लगता है। इस बयान के बाद आमिर खान को जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा था। उनका ये बयान सरकार को भी हजम नहीं हुआ था। यही वजह है कि जनवरी 2017 में आमिर खान को इनक्रेडिबल इंडिया (अतिथि देवो भव) के ब्रांड एंबेसडर पद से हटा दिया गया था।     आमिर ना सिर्फ अपने बयानों बल्कि कुछ कामों की वजह से भी विवादों में पड़े। फिल्म पीके में शंकर भगवान को दौड़ाने को लेकर लोगों ने उन्हें मनोरंजन के नाम पर देवी-देवताओं के अपमान का आरोप लगाया। धर्म गुरुओं ने आमिर पर तीखे सवाल भी दागे। बढ़ती उम्र मे कारण जब से उन्हें पब्लिक सिटी मिला बंद हुई है तब से वह  विवादों में रहने की कोशिशों में लगे रहे हैं। उनका उस ब्लॉग ने भी जमकर विवाद खड़ा किया था जिसमें उन्होंने शाहरुख को लेकर तंज कसा था। दरअसल आमिर ने अपने ब्लॉग में लिखा था कि जब वो घर पर आए तो शाहरुख उनके पैर चाट रहा था और उन्होंने शाहरुख को बिस्किट खिलाए। आमिर के इस ब्लॉग ने शाहरुख समर्थकों को तो नाराज किया ही था बल्कि एक बड़ा वर्ग उनके ब्लॉग पर सवाल खड़े कर रहा था। दरअसल आमिर ने बताया कि वे मेरा कुत्ता था, जिसका नाम भी शाहरुख था।     इसी तरह से इजराइल के प्रधानमंत्री तीन वर्ष पहले 2018 में जब भारत दौरे पर आए तो उस वक्त उनसे मिलने एक इवेंट बॉलीवुड की तमाम बड़ी हस्तियां मौजूद थीं। आमिर खान को बुलावा भेजा गया था, लेकिन उन्होंने आना जरूरी नहीं समझा और उनकी गैर मौजूदगी ने एक बार फिर बड़ा विवाद खड़ा कर दिया। आमिर खान अपनी फिल्मों को प्रमोट करने के लिए कोई ना कोई तरीका जरूर निकाल लेते हैं। लेकिन इसके साथ ही वे इंडस्ट्री के साथी कलाकारों से पंगा लेने में भी पीछे नहीं रहते। सदी के महानायक का दर्जा पा चुके अमिताभ से भी आमिर ने विवादित बयान देकर पंगा लिया। आमिर ने उनकी फिल्म ब्लैक रिलीज होने के बाद ये कहा था कि इस फिल्म में अमिताभ की एक्टिंग उनके सिर के ऊपर से निकल गई। इसके अलावा भी आमिर खान के कई विवाद जैसे मैडम तुसाद में वैक्स स्टैच्यू बनाने की मंजूरी ना देना। नर्मदा आंदोलन के दौरान मेधा पाटकर के साथ बैठकर धरना देना। सीएए का विरोध आदि तमाम किस्से शामिल हैं.

अजय कुमार के अन्य अभिमत

© 2020 Copyright: palpalindia.com
हमारे बारे
सम्पादकीय अध्यक्ष : अभिमनोज
संपादक : इंद्रभूषण द्विवेदी
कार्यकारी संपादक (छत्तीसगढ़): अनूप कुमार पांडे

हमारा पता
Madhya Pradesh : Vaishali Computech 43, Kingsway First Floor Main Road, Sadar, Cant Jabalpur-482001 M.P India Tel: 0761-2974001-2974002 Email: [email protected] Chhattisgarh : Mr. Anoop Pandey, State Head, Saurabh Gupta Unit Head, H.N. 117, Sector-3 Behind Block-17, Sivanand Nagar , Khamtarai Raipur-492006 (CG) Email: [email protected] Mobile - 9111107160